जागरण संवाददाता, कैथल : राज्य मंत्री बनने के बाद कमलेश ढांडा शाम सात बजे रेस्ट हाउस पहुंची। यहां कैथल से विधायक लीला राम, डीसी डॉ. प्रियंका सोनी, एसपी विरेंद्र विज, भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक गुर्जर ने स्वागत किया। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की।

राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि वे पार्टी की छोटी कार्यकर्ता हैं। सीएम मनोहर लाल ने उन्हें पहले विधायक अब राज्यमंत्री बनाकर विश्वास जताया है। इस पर वह खरा उतरेंगी। प्रदेश में महिलाओं और बेटियों के उत्थान के लिए काम होगा। क्षेत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल और पानी की निकासी सहित अन्य जो भी मूलभूत सुविधाएं हैं, उन्हें दूर करना ही उनकी प्राथमिकता रहेगी। कलायत हलका अति पिछड़ा है। यहां पहले विपक्ष के विधायक रहे हैं, उन्होंने क्षेत्र में विकास नहीं कराए। इस क्षेत्र के साथ-साथ कैथल, पूंडरी और गुहला क्षेत्र में विकास कराया जाएगा। कैथल से लीला राम उनकी पार्टी के विधायक हैं। पूंडरी से निर्दलीय विधायक रणधीर सिंह गोलन ने सरकार का समर्थन किया है, गुहला से विधायक ईश्वर सिंह भी उनकी सरकार में हैं। सभी को साथ लेकर विकास करना है। कलायत हलके में कई स्कूलों के अपग्रेड की मांग वर्षो से अधूरी है। नशे को जड़ से करेंगे खत्म

राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि नशा को जड़ से खत्म करने के लिए सरकार पूरी तरह से गंभीर हैं। विधानसभा सत्र के दौरान भी सीएम मनोहर लाल ने निर्देश जारी किए थे कि अवैध रूप से बिक रहे नशे पर प्रतिबंध लगेगा। पति नरसिंह ढांडा दो प्लान में रहे हैं मंत्री

राज्य मंत्री बनी कमलेश ढांडा के पति नरसिंह ढांडा भी दो बार प्रदेश में मंत्री रहे हैं। वर्ष 1982 और 1987 में लोकदल की सरकार में वे खाद्य एवं आपूर्ति विभाग और जेल विभाग के मंत्री रहे हैं। अब 32 साल बाद पत्नी कमलेश ढांडा विधायक बनते हुए राज्यमंत्री बनी हैं। कमलेश ढांडा ने कहा कि उनके पति ने हलके के विकास को लेकर जो सपना संजोया था, उसे पूरा करना ही उनकी प्राथमिकता रहेगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप