जागरण संवाददाता, कैथल : संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर बिजली की समस्या को लेकर प्रदर्शनकारी किसान संगठनों के सदस्यों ने मंगलवार को पिहोवा चौक स्थित विद्युत सदन पर प्रदर्शन किया। किसान पहले जवाहर पार्क में एकत्रित हुए। उसके पिहोवा चौक से प्रदर्शन करते हुए निगम परिसर में पहुंचे। किसानों ने खेतों में तूफान के कारण बंद हुई बिजली की सप्लाई 15 दिन बाद भी शुरू न होने और ट्यूबवेल कनेक्शन न मिलने पर विरोध जताया। प्रदर्शन की अध्यक्षता किसान नेता होशियार गिल, भरत सिंह बैनिवाल और सतपाल दिल्लोवाली ने की। प्रदर्शन के दौरान किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसान नेता होशियार गिल ने कहा कि निगम द्वारा खेतों में किसानों को ट्यूबवेल देने की बजाय हर रोज नए नियम उन पर लागू कर रही है। कभी नहरी कमांड एरिया का नियम लागू किया जाता है तो कभी 100 फीट से अधिक गहराई पर पानी नीचे होने पर कनेक्शन न देने के नियम लागू किया जाता है। जिससे किसान परेशान है। होशियार ने कहा कि एक जून को आए तूफान के बाद बिजली निगम के चार हजार से अधिक खंबे टूट गए। जिसके 15 दिन बीतने के बावजूद इन्हें नहीं लगाया गया है। क्योंकि सरकार कच्चा सामान निगम को नहीं दे रही है। ऐसा करके किसानों को परेशान किया जा रहा है। ताकि किसानों को धान की फसल उगाने के दौरान कठिनाइयों का सामना करना पड़े। एसई बलजीत रंगा ने कहा कि 25 जून तक सभी टूटी लाइनें ठीक करके चालू कर दी जाएंगी व नए ट्यूबवेल कनेक्शन भी 25 तक जारी कर दिए जाएंगे। प्रदर्शनकारी किसानों को जींद रोड पर 175वें दिन भी जारी रहा धरना

वहीं, किसान सयुंक्त मोर्चा के आह्वान पर खेती बचाओ देश बचाओ संघर्ष समिति द्वारा जींद रोड पर दिया गया धरना 175वें दिन भी जारी रहा। धरने की अध्यक्षता किसान नेता मांगे राम तितरम ने की। किसान सभा के जिला प्रधान महेंद्र सिंह ने बताया कि संयुक्त किसान मोर्चा का जो भी कार्यक्रम होता है। उसमें सभी सदस्य शामिल होता है। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन तब तक जारी रहेगा। जब तक कृषि सुधार कानून वापस नहीं होते। उन्होंने मांग की कि देश में सभी जरूरतमंदों को निशुल्क राशन व साढे सात हजार रुपये नकद हर महीने दिए जाएं। धरने को किसान नेता अजमेर सिंह, बलजीत सिंह चंदाना व केहर सिंह तितरम ने भी संबोधित किया। इस मौके पर गांव तितरम, प्यौदा, चंदाना, जाखौली, हरसौला, कैलरम, किठाना, खेड़ी शेरू, सौंगल, खुराना व सेगा के किसान शामिल रहे।

Edited By: Jagran