जागरण संवाददाता, कैथल :

विधानसभा चुनाव के दौरान मतदान प्रकिया में हिस्सा लेने से बुजुर्ग भी पीछे नहीं हटे। इस बार बुजुर्गों ने विभिन्न मुद्दों को देखते हुए मतदान किया। मतदान के दौरान 90 व 100 वर्ष तक बुजुर्ग भी मतदान करने से पीछे नहीं रहे। वहीं मतदान करने पहुंचे बुजुर्गाें का कहना था कि जब से देश आजाद हुआ है, तब से भी देश व प्रदेश में भ्रष्टाचार रूपी बीमारी काफी जड़े फैला चुकी है। ऐसा नहीं है कि प्रदेश में सरकारों ने विकास नहीं कराया, लेकिन आज भी देश और प्रदेश में ऐसी कई समस्याएं है, जिनका समाधान नहीं हो पाया है। जिसमें बुजुर्गाें की समस्याएं भी शामिल हैं।

12वीं बार मतदान किया :

आरकेएसडी कॉलेज में बनाए गए बूथ में अपने बेटे नवीन के साथ मतदान करने पहुंची 73 वर्षीय जनक दुलारी ने कहा कि चुनाव का दिन लोकतंत्र का पर्व होता है। अच्छी सरकार चुनने के लिए इस पर्व को मनाना बेहद जरूरी है। जनक दुलारी ने कहा कि आज 12वीं बार मतदान किया है, पहले के चुनाव और आज के चुनाव में अंतर आया है। अब चुनाव कराने में संसाधनों का प्रयोग अधिक होने लगा है। अच्छी सरकार चुनने के उद़्देश्य से वो दिया है।

बुजुर्गाें के हित के लिए दिया वोट:

गांव भैणी माजरा निवासी 82 वर्षीय रौनक राम ने बताया कि वर्तमान समय में चुनाव की कार्यशैली बदल चुकी है। लेकिन अब लोग मतदान को लेकर काफी जागरूक हुए है। इसी जागरूकता के बीच मतदान करने के लिए मतदान केंद्र में पहुंचा हूं। उम्मीद है जो भी नई सरकार सत्ता में आएगी, वह बुजुर्गाें के हितों में कार्य कर उनका सम्मान करेगी।

मतदान कर लोकतंत्र को मजबूत करते :

गांव ग्योंग में मतदान करने पहुंचा 85 वर्षीय बुजुर्ग रामधारी सिंह ने बताया कि मतदान से हम अपने लोकतंत्र को मजबूत करने का कार्य करते है। इसलिए मतदान करने मतदान केंद्र पर जरूर जाना चाहिए। बुजुर्गाें की अभी भी कई ऐसी समस्याएं हैं, जिसका समाधान नहीं हो पाया है। नई सरकार बनने के बाद समस्याओं के समाधान होने की उम्मीद है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस