संवाद सहयोगी, कलायत: नगरपालिका द्वारा बेतरतीब ढंग से बनाई गई पुलिया लोगों के लिए जी का जंजाल बनी है। हालात इस कदर खराब है कि निकासी की बजाए दूषित पानी घरों में घुस रहा है। सबसे ज्यादा स्थिति राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल के सामने वार्ड 11 की मुख्य गली में खराब है।

यादव मिष्ठान भंडार के पास पानी निकासी पुली को मानदंडों के अनुरूप नहीं बनाया गया। यह स्त्रोत निकासी की बजाए अवरोधक का काम कर रहा है। इसको लेकर लोगों में रोष है। अनिल राणा, कुलदीप ¨सह, चीमन, लक्ष्मण और दूसरे लोगों का कहना है कि जो पुली अवरोधक बनी है वहां से घनी आबादी के क्षेत्र की निकासी व्यवस्था जुड़ी है।

पालिका से चंद कदमों की दूरी पर यहां पिछले काफी समय से बरसात के दिनों में ही नहीं सामान्य दिनों में गंदा पानी गली में हिलोरे मारता है। मुख्य मार्ग पर स्वच्छता अभियान में आड़े आ रहे इन हालातों ने नपा प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगा दिए है।

लोगों का कहना है कि इस बात में कोई संदेह नहीं कि सफाई कर्मचारी ¨वग समुचित रूप से निकासी व्यवस्था का प्रयास करता है, लेकिन गैर तकनीकी रूप से बनाई गई पुली और अन्य निकासी स्रोतों के प्रति साहब लोगों की लापरवाही उन्हें भुगतनी पड़ती है।

अपनी दुविधा को वे खुलकर शासन-प्रशासन के सामने यदि रखने का प्रयास करते है तो पालिका के कुछ अधिकारी उनके साथ अभद्रता के साथ पेश आते है। फलस्वरूप उन्हें सब कुछ जानते हुए भी मजबूरन चुप रहना पड़ता है।

संबंधित आवासीय क्षेत्र में पानी निकासी का मुद्दा हमेशा से गर्माया रहता है। इस मसले को लेकर पूर्व में लोगों ने हरियाणा को पंजाब से जोड़ने वाले रेलवे रोड पर जाम लगाया था। बाद एसएचओ के आश्वासन पर लोग शांत हुए थे। जो रवैया नपा अधिकारियों का देखने में आ रहा है उससे ये जाहिर है कि ये कार्य को लेकर सजग नहीं है।

जल्द होगा समाधान: चेयरपर्सन

नगरपालिका चेयरसर्पन सुरेश रानी ने कहा कि जन सुविधा के लिए विशेष कदम उठाए जा रहे हैं। मुख्य मार्ग के पास निकासी व्यवस्था में आड़े आ रही समस्या का हल किया जाएगा। उन्होंने नपा अधिकारियों को इस संदर्भ में त्वरित कदम उठाने के निर्देश दिए।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप