जागरण संवाददाता, कैथल : वायु में बढ़ रहे प्रदूषण स्तर को लेकर अब जिला प्रशासन एक्शन मोड में है। जिसके चलते पराली जलाने वाले किसानों पर जिला प्रशासन की ओर से कार्रवाई तेजी से जारी है। सुप्रीम कोर्ट के सख्त होने के बाद पराली जलाने के मामलों को रोकने के लिए डीसी डॉ. प्रियंका सोनीे ने सभी ब्लाकों में अधिकारियों को ठीकरी पहरे लगाने के आदेश भी जारी किए है। एक ओर जहां जिला प्रशासन की टीमें जिला के विभिन्न क्षेत्रों में दौरा कर खेतों में आगजनी की पहचान कर रही हैं, वहीं किसानों पर एफआइआर दर्ज करने का सिलसिला भी तेजी से जारी है। बता दें कि पिछले तीन दिनों में जिला प्रशासन ने अपनी टीमों के माध्यम से किसानों के खिलाफ सख्ती अपनाते हुए अब तक 73 एफआइआर दर्ज कर ली है, बुधवार को जिला प्रशासन ने 19 खिलाफ मामले दर्ज कर लिए गए है। जबकि मंगलवार तक केवल 54 एफआइआर दर्ज की है।

पर्यावरण संरक्षण के लिए सख्ती जरूरी :

कैथल की एसडीएम कमलप्रीत कौर ने बताया कि पर्यावरण संरक्षण के लिए खेतों में पराली जलाने वाले किसानों के खिलाफ सख्ती जरूरी है। प्रदूषण को लेकर जिला प्रशासन की टीमें पूरी तरह से सजग है, खेतों में पराली और सार्वजनिक स्थलों पर कूड़ा कर्कट जलाने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। अभी तक तीन दिनों में कुल 73 किसानों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस