जागरण संवाददाता, कैथल: बहुददेश्ीय स्वास्थ्य कर्मचारी एसोसिएशन के आह्वान पर जिले के सभी कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन आंदोलन 16वें दिन भी जारी रखा। धरने की अध्यक्षता जिला प्रधान जो¨गद्र ¨सह और मंच संचालन रणदीप शर्मा ने किया।

धरने के अंत में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के आह्वान पर शांतिप्रिय विधानसभा कूच के दौरान पानी की बौछारें, आंसू गैस के गोले व लाठीचार्ज के विरोध में थाली चम्मच बजाकर सिविल सर्जन कार्यालय से शहर के मुख्य बाजारों में जोरदार रोष प्रदर्शन किया।

इस दौरान जो¨गद्र ¨सह ने कहा कि विधानसभा घेराव के दौरान कर्मचारियों पर लाठीचार्ज करना बहुत ही ¨नदनीय है। सरकार सत्ता के नशे में चूर होकर कर्मचारियों की जायज मांगों को मानने की बजाए एस्मा जैसे कठोर कानून के तहत कर्मचारियों पर मुकदमे दर्ज करवा रही है। शांतिपूर्ण आंदोलन के दौरान कर्मचारियों पर बर्बरतापूर्ण वाटर कैन, अश्रु गैस के गोले और लाठीचार्ज जैसे ¨नदनीय घटना को अंजाम दे रही है। इसका हरियाणा के कर्मचारी और जनता समय आने पर माकूल जवाब देंगे।

राज्य कमेटी के उपमहासचिव सुरेश उचाना और सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान जसवीर ¨सह ने कहा कि सरकार प्रजातंत्र की परिभाषा भूलकर तानाशाही रवैया अपनाए हुए हैं। कर्मचारियों की जायज मांगों को मांगने की बजाय कर्मचारियों पर हर तरह से अत्याचार कर रही है। सरकार अपने चुनावी वादों को भूल कर कर्मचारियों में डर का माहौल वादा करना चाहती है।

उन्होंने कहा कि वे सरकार को चेताना चाहते हैं कि हरियाणा के कर्मचारी दमनकारी नीतियों से डरकर अपने हकों की लड़ाई से पीछे हटने वाले नहीं हैं। बहुद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारियों की जायज मांगों के लिए लगातार संघर्ष जारी रहेगा।

प्रेस प्रवक्ता श्रवण करोड़ा ने बताया कि अनिश्चितकालीन आंदोलन के 16वें दिन भी जिले की सभी मूलभूत स्वास्थ्य सेवाएं पूर्ण रूप से बंद हैं। जनता को बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके बावजूद सरकार हठधर्मिता अपनाए हुए है। सरकार को चाहिए कि जनता के हितों को सर्वोपरि मानते हुए कर्मचारियों की जायज मांगों को मानकर स्वास्थ्य स्वास्थ्य सेवाएं पुन: बहाल करवाई जाए।

धरने को सर्व कर्मचारी संघ के जिला सचिव जरनैल ¨सह, मैकेनिकल वर्कर यूनियन के प्रधान ओमपाल भाल, आशा वर्कर यूनियन की जिला कमेटी सदस्य रामदेवी, आंगनबाड़ी नेता इंदिरा देवी, वन मजदूर संगठन के राज्य प्रधान विजय शर्मा ने संबोधित किया। कर्मचारियों की सभी जायज मांगों का समर्थन करते हुए विश्वास दिलाया कि सरकार की दमनकारी नीतियों के खिलाफ सभी संगठन एक होकर आपके हकों की लड़ाई को और ज्यादा मजबूती के साथ लड़ेंगे।

Posted By: Jagran