जेएनएन, कैथल। एक हेड कांस्टेबल के निजी कार से एक स्वीपर का शव बरामद किया गया है। शव की बरामदगी के बाद सनसनी फैल गई। बताया जा रहा है कि शव गर्दन सहित अन्य हिस्से पर जला हुआ है। स्वीपर राधाकृष्ण सनातन धर्म कॉलेज में कार्यरत था और पुलिसकर्मी का ही दोस्त था। सिविल लाइन थाना एसएचओ प्रह्लाद सिंह मौके पर पहुंचे। शव को सिविल अस्पताल कैथल लाया गया है। डीएसपी कुलवंत सिंह ने भी मौके का दौरा किया है।

अस्पताल पहुंचे स्वजनों ने हत्या की आशंका जताई है। सिविल लाइन थाना एसएचओ ने बताया कि शव पुलिस में सिविल लाइन थाने में राइडर के पद पर तैनात हेड कांस्टेबल रणधीर सिंह की स्विफ्ट गाड़ी में मिला हैैै। रणधीर सिंह तीन दिन से ड्यूटी से गैरहाजिर था।

स्वजनों के अनुसार कर्मवीर, रणधीर व क्योड़क गांव निवासी व्यक्ति जो अंबाला रोड पर दूध की डेयरी करता है तीनों ने शनिवार को इक्ट्ठे बैठकर शराब पी। इसके बाद पंथ नगर गली नंबर चार में गाड़ी की पिछली सीट पर कर्मवीर का शव मिला। पुलिस इस मामले को लेकर जांच कर रही है। मौत कैसे हुई है इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद हो पाएगी। घटना के बाद से पुलिस कर्मचारी व डेयरी संचालक फरार हैं। दोनों की गिरफ्तारी के बाद पूछताछ करने पर मामले का खुलासा होगा।

फतेहपुर गांव निवासी पूर्व सरपंच प्रेमचंद ने बताया कि उसका चाचा कर्मवीर आरकेएसडी कॉलेज में स्वीपर था। शनिवार को ड्यूटी पर जाने के बजाय पुलिस कर्मचारी के साथ गाड़ी में बैठकर चला गया। बाद दोपहर परिवार वालों का उसके पास फोन आया तो वे गांव से मौके पर पहुंचा। शव गाड़ी की पिछली सीट पर पड़ा हुआ था। गर्दन के नजदीक व शरीर के अन्य हिस्सेे जले हुए थे। परिवार वालों ने बताया कि पुलिस कर्मचारी व डेयरी वाले के साथ बैठकर दिन में शराब पी। इसके बाद यह घटना हुई। पुलिस प्रशासन से मांग है कि इस मामले की जांच करते हुए उचित कार्रवाई की जाए। यह सामान्य मौत नहीं है, बल्कि हत्या की गई है।

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस