जागरण संवाददाता, कैथल : डीसी डॉ. प्रियंका सोनी ने कहा कि जल शक्ति अभियान के तहत सभी सरकारी भवनों में बरसाती पानी के संचयन के लिए वाटर हार्वेस्टिग सिस्टम लगाया जाएगा। इसके साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण की दिशा में 4 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। स्वच्छता दर्पण में कैथल जिला हरियाणा में तीसरे स्थान पर है।

डीसी लघु सचिवालय स्थित सभागार में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि पूरे देश के 235 जिले तथा हरियाणा के 19 जिलों को इस जल शक्ति योजना में शामिल किया गया है। कैथल के गुहला व राजौंद ब्लॉक डार्क जॉन में है। इस अभियान के तहत सक्षम युवाओं को जोड़कर ज्यादा से ज्यादा लोगों को जल संरक्षण के लिए जागरूक किया जाएगा। मनरेगा के तहत जिला के जोहड़ व टैंकों को साफ करके उनकी क्षमता में वृद्धि की जाएगी। जल ही जीवन है अभियान के तहत जिले में 11 हजार हेक्टेयर का लक्ष्य मक्का लगाने के लिए निर्धारित किया गया था, जिसमें से 9313 हेक्टेयर को चयनित कर लिया गया है। इसके साथ-साथ 5 हजार एकड़ में धान की सीधी बिजाई की जा रही है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत एक लाख 8 हजार किसानों ने आवेदन किए थे, जिनमें से 66 हजार 400 किसानों के खाते में दो किश्तें जारी की जा चुकी है। डीसी ने इस दौरान कहा कि आगामी दिनों में स्वच्छ सर्वेक्षण किया जाएगा। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की गाइड लाइन से सफाई का ठेका दिया जाएगा, ताकि शहर बिलकुल स्वच्छ हो सके। शिक्षा के क्षेत्र जिला के 26 बच्चों ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है, जिन्हें आगामी 3 जुलाई को सरकार की नीति के अनुसार लैपटॉप दिए जाएंगे।

मोबाइल वैन को दिखाई हरी झंडी

जल शक्ति अभियान के तहत कृषि विभाग की तरफ से आम जन को अधिक से अधिक जल संरक्षण के लिए जागरूक करने के लिए एक विशेष मोबाइल वैन चलाई गई है। डीसी डॉ. प्रियंका सोनी ने झंडी दिखा कर रवाना किया। इस मौके पर कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक डॉ. पवन शर्मा आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप