जागरण संवाददाता, कैथल :

खेतों में बचे धान के अवशेष जलाने को लेकर किसान पीछे नहीं हट रहे हैं। रोजाना किसी ने किसी जगहों पर आगजनी के मामले सामने आ रहे हैं। सरकारी छुट्टी के दिन व रात के समय का फायदा उठाया जा रहा है। शनिवार रात को भी कई जगहों पर धान के अवशेष जलाए गए। वहीं पुलिस प्रशासन की तरफ से कई किसानों के खिलाफ केस भी दर्ज किया गया। कृषि विभाग के अधिकारी सतीश नेहरा की शिकायत पर पुलिस ने भाग गांव निवासी किसान सतपाल, रोशन, जगदीश, सुखविद्र के खिलाफ खेतों में धान के बचे अवशेष जलाकर आग लगाने के मामले में कार्रवाई की है। शिकायत कर्ता ने कहा कि धान के बचे अवशेषों में आग लगाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया हुआ है, लेकिन इसके बावजूद आग लगाई जा रही है। इन आदेशों की अवहेलना करने के मामले में पुलिस ने उक्त किसानों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

इसी प्रकार दूसरे मामले में चीका निवासी किसान किताब सिंह, के खिलाफ केस दर्ज किया है। आरोप है कि किसान ने धान के बचे अवशेषों में आग लगाकर वायू प्रदूषण किया। ऐसा करना पूरी तरह से नियमों के खिलाफ है। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप