संवाद सहयोगी, राजौंद : विधानसभा क्षेत्र कलायत के शहर राजौंद में मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुआ। यहां करीब 71 प्रतिशत मतदान हुआ। विधानसभा के चुनावी समर में इस बार मतदान में हर वर्ग के मतदाता का उत्साह पहले की अपेक्षा अधिक देखने को मिला। सुबह सात बजे मतदान शुरू होते ही चुनावी माहौल से गांव का हर गली कूचा गुलजार हो उठा और मतदाता अपने-अपने अंदाज में अपने-अपने बूथों पर लोकतंत्र की मजबूती में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए निकल पड़े। एक ओर जहां नौजवान वोटर जो पहली बार मतदान के अहसास से जुड़ने का जुनून लिए बूथों की ओर जा रहे थे, तो वही बड़ी उम्र के बुजुर्गो में भी वोट डालने को लेकर उत्साह किसी तरह से भी कम दिखाई नही दिया। राजौंद के 85 वर्षीय टोली राणा ने बीमार होते हुए भी अपने बूथ पर आकर अपने पोत्रों की मदद से मतदान किया। गांव बिरथे बाहरी निवासी 102 वर्षीय ब्रह्मानंद ने भी अपने गांव के सरकारी स्कूल में बने मतदान केंद्र में अपने मत का प्रयोग किया। जहां तक ग्रामीण क्षेत्र की बात है, अगर हम पिछले अब तक हुए चुनावों पर नजर डालें तो ग्रामीण महिलाओं को पूरी मशक्कत के साथ मानसिक तौर पर तैयार करके मतदान केंद्र तक लाने के लिए जद्दोजहद करनी पड़ती थी। लेकिन इस बार का मतदान इन ग्रामीण महिलाओं के लिए उत्सव का रंग लेकर आया और वोट डालने के बाद वापिस आती महिलाओं ने जब अपनी अमिट स्याही लगी उंगली लहराकर खुशी व्यक्त की तो अहसास हुआ कि भारतीय निवरचन आयोग का मतदाताओं को अधिक से अधिक मतदान करने की मुहिम पर कहीं न कहीं कामयाबी की मुहर लगती नजर आई।

गांव बिरथे बाहरी निवासी 102 वर्षीय वृद्ध ने किया मतदान :

गांव बिरथे बाहरी में 102 वर्ष वृद्ध ब्रह्मानंद ने अपने मत का प्रयोग किया। उसने कहा कि वह हर बार अपने मत का प्रयोग करके लोकतंत्र के सबसे बड़े पर्व में भागीदार करके देश को विकास और प्रगति के पथ पर अग्रसर करना चाहता हूं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप