जागरण संवाददाता, कैथल: डीसी सुजान सिंह ने कहा कि बरसाती सीजन से पूर्व सभी संबंधित विभाग अपने-अपने क्षेत्रों में पड़ने वाली ड्रेन व नालों, तालाबों इत्यादि की समुचित साफ-सफाई करवाने की व्यवस्था करें। मानसून सीजन से पहले जिला में बाढ़ प्रबंधन की दिशा में व्यापक प्रबंध सुनिश्चित हो। सभी तैयारियां व्यवहारिक रूप से पूरी होनी चाहिए। संबंधित अधिकारी कार्य क्षेत्रों में जाकर व्यवस्था का निरंतर मॉनिटरिग करते रहें ताकि आने वाले समय किसी भी प्रकार की कोई भी दिक्कत नहीं रहे। डीसी सुजान सिंह लघु सचिवालय में बाढ़ प्रबंधन को लेकर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे।

उन्होंने कहा कि सभी संबंधित विभाग अपने-अपने विभाग से संबंधित बाढ़ प्रबंधन के लिए काम आने वाले सामान जैसे जनरेटर, गाड़ियां, रिकवरी वैन, ट्रैक्टर आदि की पूरी लिस्ट अपलोड करें। मानसून सीजन में जिन क्षेत्रों में पानी भरने की संभावना रहती है, वहां पर पहले से ही पंपिग सेट इत्यादि की व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।

सभी संबंधित एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में नालों, ड्रेन की साफ-सफाई बरसाती सीजन से पहले करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिए कि जितनी भी पुलिया टूटी हुई हैं, उन्हें जल्द से जल्द ठीक करवाएं। डीसी ने डीआरओ को निर्देश दिए कि जिला में जितने भी किश्ती चलाने वाले लोग मौजूद है समय-समय पर उनकी बैठक लेकर उनके क्षेत्रों के अनुसार ड्यूटी लगाना सुनिश्चित करें। उन्होंने सिचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि नहरों में नहाने पर प्रतिबंध है। संबंधित विभाग कर्मचारियों की निरंतर ड्यूटी लगाए जो नहरों पर दौरा करें।

इस अवसर पर एसडीएम कमलप्रीत कौर, विवेक चौधरी, शशि वसुंधरा, सीटीएम सुरेश राविश, डीआरओ सुरेश कुमार, बिजली विभाग के अधीक्षक अभियंता बीएस रंगा, जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अभियंता देवीलाल, एक्सईएन बनारसी दास, प्रशांत, कुलदीप सिंह, कर्णबीर सिंह, ईओ अशोक कुमार, एमई राजकुमार मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस