संवाद सहयोगी, कलायत : देवभूमि कलायत में नवरात्र के अवसर पर महिला सशक्तिकरण की अनूठी पहल हुई। विवाह के बंधन में बंधने जा रहे पांच जोड़ों ने सात फेरों के साथ-साथ आठवां वचन बेटी बचाने और पढ़ाने का लिया। राज्यमंत्री कमलेश ढांडा मुख्य रूप से कार्यक्रम में पहुंची। अग्रवाल सेवा समिति प्रधान संजय सिगला की अध्यक्षता में स्थानीय विर्क पैलेस में जरूरतमंद परिवारों की पांच कन्याओं की शादी करवाई गई। धार्मिक रस्मों का निर्वहन प्रख्यात ज्योतिषाचार्य विशाल सांडिल्य ने पूर्ण करवाया।

विशिष्ट अतिथि के रूप में अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल शरण गर्ग, युवा भाजपा नेता तुषार ढांडा, नपा चेयरपर्सन प्रतिनिधि सलिद्र प्रताप राणा, दिलावर मलिक, गौरव मित्तल पाडला, रवि प्रकाश गर्ग, प्रेम सिंह धनौरी, सुरेश नौच, जयप्रकाश मित्तल, कैलाश गुप्ता, राधा कृष्ण गर्ग, भगवान दास गर्ग, लाजपत राय मौजूद रहे। विभिन्न संगठनों से जुड़े पदाधिकारियों ने नारी सम्मान को समर्पित आयोजन के लिए महिला राज्यमंत्री कलमेश ढांडा और अग्रवाल सेवा समिति को बधाई दी।

बॉक्स

भावुक हो गई राज्यमंत्री

जरूरतमंद परिवारों की पांच बेटियों के विवाह कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में पहुंची राज्यमंत्री कमलेश ढांडा भावुक हो गई। आयोजन स्थल पर वर-वधू की मौजूदगी में कमलेश ढांडा के जन्म दिवस पर केक भी काटा गया।

उन्होंने कहा कि उनके आंगन में भी दो बेटियां है। फिलहाल उन्हें स्वयं की बेटियों को डोली में बैठाने का अवसर नहीं मिला। जिस प्रकार वे पांच बेटियों को वैवाहिक बंधन में बांध रही हैं उससे अपनेपन का अहसास हो रहा है।

बॉक्स

हुडदंग की बजाए गूंजे धार्मिक भजन

विवाह समारोह में कई बार हुड़दंग का माहौल देखने में आता है। सामूहिक विवाह कार्यक्रम में पूरा समय खुशियों में रंग भरने के लिए धार्मिक झांकियां कला मंच पर नजर आई। इसके चलते एक अनोखा समागम अग्रवाल सेवा समिति तत्वाधान में नजीर बना। झांकी कलाकारों को समिति की ओर से विशेष रूप से आमंत्रित किया गया था।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस