जागरण संवाददाता, कैथल : शनिवार को शहीद उधम सिंह का शहीदी दिवस था। नगर परिषद की तरफ से 2013 में शहीद उधम सिंह के नाम से माता गेट पर एक पार्क बनाया गया था। शहीदी दिवस के दिन भी नगर परिषद या जिला प्रशासन की तरफ से पार्क की संभाल नहीं ली गई। संभाल ना होने के कारण पार्क बदहाल हो चुका है। पानी निकासी ना होने के कारण पार्क में बरसाती पानी खड़ा है। पार्क में बड़ी-बड़ी घास खड़ी है। बता दें कि पार्क के गेट पर बड़े-बड़े अक्षरों में शहीद उधम सिंह का नाम लिखा है। पार्क के अंदर उनकी एक प्रतिमा भी लगाई गई है, जिसकी शायद ही कभी साफ-सफाई की जाती हो। पार्क में ना तो कोई नियमित सफाई कर्मचारी है और ना ही चौकीदार है। शहीदों के नाम पर प्रशासन की ओर से कार्यक्रम तो किए जाते हैं, लेकिन उनकी याद में बनाए गए पार्क की संभाल नहीं की जा रही है। आस-पास के लोग यहां सैर करने के लिए आते हैं जो कई बार नगर परिषद से व्यवस्था ठीक करने की मांग कर चुके हैं।

श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचा कोई

शहीद उधम सिंह शहीदी दिवस पर उनके नाम से बनाए गए पार्क में जिला प्रशासन की ओर से कोई भी अधिकारी-कर्मचारी श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचा। शनिवार को यहां सिर्फ लायंस क्लब आइकानिक के प्रधान ललित तनेजा ही शहीद उधम सिंह को श्रद्धासुमन अर्पित करने पहुंचे थे। पार्क और स्मारक की हालत देखकर उन्होंने भी अफसोस जाहिर किया।

डस्टबिन और झूले टूट चुके

पार्क में नगर परिषद की तरफ से झूले लगाए गए थे जो अब टूट चुके हैं। बच्चों के लिए लगाए गए झूले भी टूटे हुए हैं, लेकिन इनकी रिपेयर नहीं की जा रही है। कई सालों से सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं, लेकिन वे शायद ही कभी चले हों। कई बार पार्क से बाइक भी चोरी हो चुकी हैं। शौचालय सफाई न होने के कारण बदहाल पड़े हैं। चार से पांच लाइटें खराब पड़ी हुई हैं, जिस कारण पार्क में अंधेरा रहता है। पार्क में लोगों के बैठने के लिए बेंच रखे हुए हैं, जिनमें से ज्यादातर टूटे हुए हैं।

सोमवार को ही शहीद उधम सिंह पार्क में सफाई करवा दी जाएगी। इसके अलावा भी जो खामियां हैं, उन्हें भी दूर करवा दिया जाएगा।

रविद्र सिह, कार्यकारी अधिकारी, नगर परिषद।

Edited By: Jagran