जागरण संवाददाता, कैथल :

नेशनल कॉफडेरेशन ऑफ दलित आर्गेनाइजेशन के पदाधिकारियों की बैठक रविवार को वाल्मीकि भवन में हुई। बैठक की अध्यक्षता राकेश बहादुर ने की। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय अध्यक्ष नेकडोर अशोक भारती ने की।

बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा प्रदेश में आये दिनों दलितों, पिछड़ों, अल्पसंख्यक व महिलाओं पर अत्याचार हो रहे। इसको नेकडोर किसी भी सूरत में बर्दास्त नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा के तमाम सामाजिक संगठनों के सहयोग से जन आंदोलन करके हरियाणा की जनता को जागरूक करेगा। भारती ने कहा कि हरियाणा में भगाना की घटना की निंदा करते हुए कहा कि समय रहते भगाना के दलितों को न्याय नहीं मिला तो दलितों के तमाम सामाजिक संगठन सड़कों पर उतरने पर मजबूर होंगे, जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। राकेश बहादुर ने कहा कि नेक्डोर के साथ मिलकर दलित जन कल्याण समिति हरियाणा में जन आंदोलन चलाने में पूर्ण सहयोग करेगा। उन्होंने कहा कि इस जन आंदोलन में पिछले दस वर्षो से दलितों पर हुए अत्याचारों की घटनाओं के बारे में बताया जाएगा और हरियाणा की दल लोकसभा सीटों से जीतने वाले उम्मीदवारों को ज्ञापन के माध्यम से दलित समाज की मांगे उठाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जन आंदोलन की समाप्ति पर कैथल में दलित महारैली की जाएगी, जिसमें दलित समाज के लाखों लोग भाग लेकर अपनी हिस्सेदारी निभाने का काम करेंगे। सुरेश टांक ने समाजिक संगठनों से अपील की है कि वह एक मंच पर आकर काम करें, अपनी ताकत पर भरोसा रखें।

बैठक में फैसला लिया गया कि 9 मई को चंडीगढ़, 10 मई को हिसार, 18 मई को अंबाला, 24 मई पानीपत, 25 मई को कैथल, 31 मई को गुड़गांव में बैठक की जाएगी और उसके उपरांत 7 जून को पूरे प्रदेश में कालका से जन जागरण अभियान शुरू किया जाएगा।

बैठक में हुकम चंद सोनीपत, कर्म सिंह भुक्कल, राजेन्द्र पसाद, रामदास व कुलदीप बागड़ी, राम निवास कश्यप, कृष्ण कश्यप एडवोकेट, राकेश खानपूर कैथल, जसवंत शास्त्री, उषा, लक्ष्मी बागड़ी, सूरजमल जींद, हेमराज आदि उपस्थित थे।