जागरण संवाददाता, जींद : गांव कंडेला में शनिवार रात को घर में घुसे एक युवक की डंडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी। युवक की पिटाई करने के बाद आरोपितों ने इसके बारे में सदर थाना पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने युवक को गंभीर हालात में नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। युवक की हत्या का पता चलते ही रविवार सुबह परिजन नागरिक अस्पताल में पहुंचे। जहां पर परिजनों ने हत्या में शामिल लोगों का पता लगाकर गिरफ्तार करने की मांग को लेकर हंगामा किया। जहां पर पुलिस ने बताया कि एक आरोपित को पुलिस ने हिरासत में लिया हुआ है और उससे पूछताछ की जा रही है। उससे पूछताछ के दौरान जिसका नाम सामने आएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

गांव कंडेला निवासी कृष्ण ने सदर थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि 28 वर्षीय भतीजा बिजेंद्र निजी स्कूल की बस पर हेल्पर कार्यरत था। शनिवार देर रात को बिजेंद्र घर पर मौजूद था, लेकिन सुबह वह घर पर नहीं था। इसी दौरान सदर थाना पुलिस ने सूचना दी कि बिजेंद्र बेसुध हालात में गांव के ही राममेहर के घर पर मिला था, लेकिन बाद में उसकी मौत हो गई। बिजेंद्र की डंडों से पीट-पीटकर हत्या की गई है। आरोपित राममेहर ने प्राथमिक पूछताछ में बताया कि बिजेंद्र देर रात को बुरी नियत से उसके घर पर में घुस गया था। जहां पर उसने उसकी पिटाई कर दी और उससे उसकी मौत हो गई। पुलिस द्वारा बयान दर्ज करने के बाद मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया कि हत्या की वारदात में अकेला बिजेंद्र शामिल नहीं है। इसलिए दूसरे आरोपितों का पता लगाकर उनको गिरफ्तार किया जाए। अगर पुलिस ने उनका पता नहीं लगाया तो वह शव को मार्ग पर रखकर जाम लगा देंगे। उसके बाद गांव के मौजिज व्यक्तियों के साथ पुलिस ने परिजनों को समझाया और मामले में उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद परिजन शव का पोस्टमार्टम करवाने के लिए तैयार हो गए। सदर थाना प्रभारी सुरेंद्र ने बताया कि मकान मालिक राममेहर को नामजद करके अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करके लिया है और हिरासत में लिए राममेहर से पूछताछ की जा रही है।

मृतक के पिता को साथ ले गई पुलिस

अस्पताल में हंगामा कर रहे परिजनों ने बताया कि सदर थाना पुलिस ने बिजेंद्र की हत्या की सूचना तुरंत ही नहीं दी, बल्कि रविवार सुबह सदर थाना पुलिस की गाड़ी गांव में गई और बिजेंद्र के पिता साधुराम को ले आई। जहां पर आकर बताया कि बिजेंद्र रात को बुरी नियत से घर में घुस गया और उसकी पिटाई कर दी। परिजनों ने आरोप लगाया कि जब पुलिस बेसुध हालात में बिजेंद्र को लेने के लिए गांव में गई तो उसी समय इसके बारे में परिजनों को बताना चाहिए था।

अविवाहित था मृतक बिजेंद्र

मृतक के चाचा कृष्ण ने बताया कि उसके भाई साधुराम के दो लड़के हैं और बिजेंद्र सबसे बड़ा था। बिजेंद्र निजी स्कूल की बस पर हेल्पर की नौकरी करके काम चला रहा था और अभी तक उसकी शादी नहीं हुई थी। उसने बताया कि जिस राममेहर के घर पर शव मिला है उनका घर उनसे काफी दूरी पर है। राममेहर के घर पर उनका आना जाना भी नहीं है और उनके परिवार के दूसरे लोगों को भी नहीं जानते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप