जागरण संवाददाता, जींद: जींद से हिसार के बीच अभी तक सीधी रेल कनेक्टिविटी नहीं है। अभी तक जींद से वायी हांसी होकर ही हिसार का रास्ता तय करना पड़ रहा है। अब नए साल में इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू होने की उम्मीद है। इसकी डीपीआर (डिटेल प्रोजक्ट रिपोर्ट) तैयार हो चुकी है। डीपीआर को मंजूरी मिलते ही इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो जाएगा। करीब 50 लंबी बिछाई जाने वाली इस रेलवे लाइन पर लगभग 900 करोड़ रुपये खर्च होने की उम्मीद है।

रेलवे अधिकारियों के अनुसार जींद-हांसी प्रोजेक्ट पर इस साल टेंडर अलॉट हो जाता है तो यह अगले तीन साल में बनकर तैयार हो जाएगी। लेकिन अभी इस पर सर्वे के बाद काम काफी धीमी गति से चल रहा है। अभी डीपीआर मंजूर होना ही बड़ी बात है। डीपीआर के अनुसार जींद से हांसी के बीच 6 रेलवे स्टेशन बनाए जाएंगे। इनमें जींद की तरफ से गांव ईंटल कलां में क्रासिग, राजपुरा हॉल्ट, नारनौंद में क्रासिग, माढा में हॉल्ट, खेड़ी गगन में क्रासिग और शेखपुरा में हॉल्ट बनाया जाएगा। प्रस्तावित रेलवे लाइन दिल्ली-बठिडा रेलवे लाइन पर मौजूदा जींद स्टेशन से शुरू होगी और भिवानी-हिसार रेलवे लाइन पर मौजूदा हांसी स्टेशन पर समाप्त होगी। इस लाइन के निर्माण से यात्रियों को जींद एवं हिसार के बीच सीधी और तेज कनेक्टिविटी उपलब्ध हो जाएगी और यात्रा की दूरी भी लगभग 50 किलोमीटर तक कम हो जाएगी। इस लाइन पर 130 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गाड़ियां दौड़ेंगी। डीपीआर के अनुसार इस लाइन पर 2 रेलवे ओवर ब्रिज, 38 रेलवे अंडरपास, 5 बड़े पुल तथा 45 छोटे पुल बनाए जाएंगे। रेलवे लाइन बिछाने में लगभग 923.26 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। कुल लागत में हरियाणा सरकार और केन्द्र सरकार की 415.46 करोड़ रुपये की अनुदान राशि, हरियाणा रेल अवसंरचना विकास निगम की 253.90 करोड़ रुपये की इक्विटी और नाबार्ड या किसी अन्य वित्तीय संस्थान से लिया जाने वाला 253.90 करोड़ रुपए का ऋण शामिल है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप