संवाद सूत्र, नरवाना : गांव दनौदा कलां के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 72वां वन महोत्सव मनाया गया। इसमें एसडीएम सुरेंद्र सिंह ने मुख्यातिथि के रूप में शिरकत करते हुए पौधारोपण किया। एसडीएम सुरेंद्र सिंह ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण वर्तमान समय का ज्वलंत विषय है तथा इसे संरक्षित करने का एकमात्र जरिया पौधारोपण है, इसलिए प्रत्येक व्यक्ति विशेषकर युवा अपने जीवन में हर वर्ष एक एक पौधा जरूर लगाएं और अच्छी प्रकार से देखभाल करें, तभी वन महोत्सव का उद्देश्य सार्थक होगा। इस मौके पर प्राचार्य सुरेंद्र कुमार आर्य, सरपंच पुरुषोत्तम शर्मा, मा. ठंडिया राम, जय भगवान, गुरनाम सिंह सहित समस्ट स्टाफ व ग्रामीण उपस्थित रहे।

वन महोत्सव में पर्यावरण संरक्षण के महत्व पर दिया बल

सनातन धर्म महिला महाविद्यालय में 72वें वन महोत्सव के दौरान प्रकृति ज्ञान केंद्र द्वारा आनलाइन मुख्यमंत्री मनोहर लाल के संबोधन को सुना। प्रभारी डा. अनीता छाबड़ा ने बताया कि कार्यक्रम में पर्यावरण संरक्षण विभाग और एनएसएस प्रभारी सहित शिक्षकों व विद्यार्थियों ने अपनी भागीदारी दिखाई। उन्होंने बताया कि आनलाइन वक्तव्य में शिक्षा व वन मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधों की आवश्यकता पर बल दिया और वन व प्रकृति के महत्व को बताया। प्राचार्य डा. पूनम शर्मा ने छात्राओं को पर्यावरण संरक्षण से संबंधित गतिविधियों में शामिल होने के लिए प्रेरित किया।

बद्दोवाला स्कूल में एसएमसी कमेटी के गठन के साथ लगाए 50 पौधे

बद्दोवाला के सरकारी मिडिल स्कूल में सरकारी हिदायतों के अनुसार एसएमसी कमेटी का गठन किया गया, तो बाद में स्टाफ सदस्यों ने प्रांगण में 50 पौधे लगाए। स्कूल इंचार्ज संतोष श्योकंद ने कहा कि पौधों का हमारे जीवन में विशेष महत्व है। इनसे वातावरण शुद्ध रहता है तो ये चारों ओर हरियाली की छटा बिखेरते हैं।

Edited By: Jagran