जींद, [कर्मपाल गिल]। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए शरीर का प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी सिस्टम) मजबूत होना जरूरी है। जींद के सुप्रसिद्ध वैद्य मा. ओमप्रकाश ज्ञानतारा का कहना है कि इम्युनिटी बढ़ाने की दवा हर भारतीय की रसोई में मौजूद है। लहसुन, हल्दी, अदरक, जीरा, धनिया, मिर्च, प्याज सहित सब्जी में डाली जाने वाले अन्य मसालों का सही तरीके से सेवन किए जाए तो कोरोना को आसानी से हराया जा सकता है।

जागरण से बातचीत में वैद्य ओमप्रकाश ने कहा कि सभी वायरसों को भगाने के लिए सुबह अपने परिवार के सदस्‍यों को एक-दो संतरा जरूर खिलाएं। संतरे का छिलका भूलकर भी न फेंकें। आंख बंद कर अपने चेहरे पर संतरा दबाकर सारे चेहरे पर स्प्रे करें। चाय व काफी से परहेज करें। रोज सलाद, फल, कच्चा भोजन करें।  

उन्‍होंने कहा कि घर में अदरक, लहसुन व प्याज को 10-10 ग्राम लेकर साफ करके कूटकर चटनी बना लें। इसमें चार चम्मच शहद डाल दें। दो गिलास पानी गर्म करके इस चटनी में डाल दें। आधी रोटी खाने के बाद इसे छानकर हल्का गर्म दो घूंट पी लें। खाना खाने में दो गिलास पानी खत्म कर दें। ऐसा करने से शरीर के आसपास कोई वायरस नहीं आएगा।

मा. ओमप्रकाश ज्ञानतारा ने कहा कि लहसुन वात नाशक है। लाल कोशिका और सफेद कोशिका या शरीर के किसी भी भाग में वायरस होता है, तो लहसुन उसे भगा देता है और फेफड़ा और श्वास नली को साफ करता है। एक अन्य नुस्खा बताते हुए वैद्य ओमप्रकाश कहते हैं कि घर में दो गिलास पानी पतीले में डाल लें और उसमें कोई भी सोने का आभूषण जैसे अंगूठी, चेन, हाथ के कड़े डालकर हल्की आंच में गर्म करें।

उन्‍होंने बताया कि जब दो गिलास पानी जलकर एक गिलास रह जाए तो उसे ठंडा करके 30 से 40 ग्राम प्रति व्यक्ति को पिलाएं। छोटे बच्चों को दो से पांच ग्राम दें। इस तरह उबला हुआ पानी सोने की भस्म के बराबर है, जो वायरस नाशक है। दुनिया के सभी वायरस सोने की रेडिसन या सोने के इलेक्ट्रोन से वायरस भाग जाते हैं। तेल की मालिश से वायरस छू भी नहीं सकेगा।

वैद्य ओमप्रकाश कहते हैं कि तितली और भंवरे को मीट मार्केट में छोड़ेंगे तो वह पलभर में मर जाएंगे या भाग जाएंगे। मक्खी, मच्छर को गुलाब या अन्य फूलों पर छोड़ेंगे तो वे भाग जाएंगे। कड़वा तेल या सरसों का तेल 500 ग्राम लेकर उसमें 100 ग्राम गुलाब के फूल डालकर पकाएं। दस-दस फूल डालकर 100 ग्राम फूलों को तेल में जला दो। ठंडा होने पर तेल को छानकर निचौड़ लो। इस तेल की शरीर पर मालिश करने से कोई भी वायरस आपको स्पर्श नहीं करेगा और नुकसान नहीं करेगा। शेष तेल की बदन पर मालिश करें। गुलाब की जगह गैंदा, सदाबहार, चमेल, चम्पा, रात की रानी के फूल ले सकते हैं और सरसों के तेल की जगह नारियल का तेल भी ले सकते हैं।

शरीर की इम्युनिटी इस तरह बढ़ाएं वैद्य ओमप्रकाश ने कहा कि रसोई शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के अनेकों नुस्खें मौजूद हैं। आलू-मटर की सब्जी बनाते समय आलू को लोहे की कढ़ाई में डाल दें। साथ में जीरा, धनिया, प्याज, अदरक, हल्दी, मिर्च, नमक भी पीसकर डाल दें। साथ में सरसों तेल, घी, पानी इच्छानुसार डालकर सब्जी को उबालें। इससे इम्युनिटी बढ़ेगी। सुबह खाने में 1700 से 2000 कैलोरी होगी। 

उन्‍होंने कहा कि सब्जी में तड़का न लगाएं, क्योंकि तड़के में जली हुई चीज किसी काम की नहीं रहती। सब्जी में जीरा पड़ता है, जो भूख बढ़ाता है और पाचन क्रिया सुधारता है। धनिया पित्‍त को शांत करता है व खून को ठंडा करता है। मिर्च हर वायरस को खत्म करने में मदद करती है। इसी तरह हल्दी तो कैंसर सहित हर बीमारी को खत्म करने की ताकत रखती है।     

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: इनसे सीखिये: भाई की मौत के बाद घर के बाहर लगाया संदेश- कृपया कोई शोक जताने न आएं


यह भी पढें: Corona Lock down: डीएसपी को आया फोन- सर दूल्हा बोल रहा हूं, आज के फेरे हैं गाड़ी जाने दोगे क्‍या


यह भी पढ़ें: कोरोना के बचाव के लिए संतुलित आहार लेना जरूरी, अपनाएं भोजन में 2 फीसद का नियम

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस