जागरण संवाददाता, जींद : इस बार स्वच्छता सर्वे 6000 हजार की बजाय 7500 अंकों का होगा। जिसमें 30 फीसद अंक नागरिकों के फीडबैक, 30 फीसद स्वच्छता से संबंधित प्रमाण पत्रों के और 40 फीसद अंक सेवा स्तर की प्रगति के होंगे। केंद्र सरकार की तरफ से स्वच्छता सर्वे 2022 की गाइडलाइन जारी कर दी गई है। गाइडलाइन के अनुसार काम करने के लिए शहरी स्थानीय निकाय निदेशालय की तरफ से जिला नगर आयुक्त और संबंधित नगर निगम, नगर परिषद और नगर निकायों को पत्र जारी किया गया है। केंद्र सरकार ने साल 2016 में स्वच्छता सर्वेक्षण कार्यक्रम शुरू किया था। उस समय देश के 73 शहरों को सर्वे में शामिल किया गया था। स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में किए गए सर्वे में 4320 शहरों को शामिल किया गया था। जिसका परिणाम जारी होना बाकी है। सर्वे के लिए जनवरी में टीम आएगी।

पहली बार सर्वे में साफ हवा और सफाई मित्रों की सुरक्षा को शामिल किया गया है। सर्वे में स्वच्छता के कार्यों का आंकलन दैनिक और मासिक रिपोर्ट के आधार पर डिजिटल होगा। मंत्रालय ने सर्वे में सफाई मित्रों को कोरोना जैसी महामारी से बचाने के लिए किए गए प्रयासों को शामिल किया है। सफाई मित्र सुरक्षा के तहत कर्मियों के लिए महामारी बचाव के लिए वैक्सीनेशन, पीपीई किट, मास्क या अन्य सुरक्षा संसाधनों के इंतजाम, स्वास्थ्य जांच, बीमा आदि बातें परखी जाएंगी। डिजिटल ट्रैकिग के तहत फीडबैक, मानिटरिग, सार्वजनिक शौचालयों और सालिड वेस्ट मैनेजमेंट की मानिटरिग अब कंप्यूटर के जरिये होगी।

कब कितनी रैंक जींद को मिली

साल - रैंक

2017 -265

2018 -272

2019 -223

2020 -168

ये रहेंगी कैटेगरी

1. सर्टिफिकेशन : इस कैटेगरी के 2250 अंक निर्धारित किए गए हैं। इसके तहत स्टार रेटिग, ओडीएफ प्लस प्लस व वाटर प्लस प्लस को शामिल किया गया है। स्टार रेटिग के 1250 अंक और ओडीएफ प्लस प्लस और वाटर प्लस प्लस के एक हजार अंक रहेंगे। जींद शहर ओडीएफ प्लस हो चुका है। गार्बेज फ्री सिटी वन स्टार के लिए अप्लाई किया हुआ है, जिसके लिए निरीक्षण होना बाकी है। अभी तक वाटर प्लस प्लस को लेकर नगर परिषद ने कोई काम नहीं किया है।

2. सिटीजन वाइस : इस कैटेगरी के भी 2250 अंक रखे गए हैं। इसके तहत छह विभिन्न चैनलों के माध्यम से सिटीजन फीडबैक के 600 अंक रहेंगे, जिसमें स्वच्छता एप, क्यूआर कोड, वोट फार यूअर सिटी व फेस टू फेस फीडबैक शामिल है। इसके अलावा सिटीजन इंगेजमेंट (जागरूकता अभियान) के 160 अंक, बेस्ट प्रैक्टिस इनोवेशन यानि सर्वोत्तम अभ्यास नवाचार के 150, स्वच्छता एप के 400 व सफाई सुरक्षा मित्र के 375 अंक निर्धारित किए गए हैं।

3. सर्विस लेवल प्रोग्रेस : इस कैटेगरी के तीन हजार अंक निर्धारित किए गए हैं। इसमें सेग्रीगेशन यानि गीले व सूखे कूड़े की छंटाई के 900 अंक, सस्टेनेबल के 900 अंक व डिस्पोजल के 1200 अंक रहेंगे।

पिछले साल से ये हुए हैं बदलाव

1. सर्विस लेवल प्रोग्रेस-पहले इस कैटेगरी के 2000 अंक रखे गए थे, जिन्हें अब बढ़ाकर 3000 कर दिया है। पहले सस्टेनेबल सैनिटेशन के 600, सेग्रीगेटिड कलेक्शन के 600 और प्रोसेसिग व डिस्पोजल के 800 अंक थे। वहीं अब सस्टेनेबल सैनिटेशन यानि स्थाई स्वच्छता व सफाई सुरक्षा मित्र के 900 व सेग्रीगेटिड कलेक्शन के 900 अंक और प्रोसेसिग व डिस्पोजल के 1200 अंक निर्धारित किए गए हैं। अब डोर टू डोर कूड़ा उठाने से लेकर उसे अलग-अलग करना व उसके निपटान करने पर अधिक जोर रहेगा। इसका तीन फेज में असेसमेंट किया जाएगा। पहला असेसमेंट जुलाई-अगस्त (400 अंक), दूसरा सितंबर-अक्तूबर (600) व तीसरा असेसमेंट नवंबर से जनवरी (2000 अंक) तक होगा। ये रिपोर्ट सभी आनलाइन भेजनी होंगी।

2. सर्टिफिकेशन : पहले इस कैटेगरी के तहत 1800 अंक थे, जो अब बढ़ाकर 2250 कर दिए गए हैं।

3. सिटीजन फीडबैक (सिटीजन वायस) : इस कैटेगरी के तहत दिए अब अंक 1800 की बजाय 2250 में से दिए जाएंगे। सिटीजन फीडबैक एक जनवरी से 28 फरवरी तक लिया जाएगा।

इन कारणों से पिछड़ सकता है जिला

बाजारों में रात के समय सफाई नहीं हो रही, वहीं सार्वजनिक शौचालयों की हालत भी ठीक नहीं है। जिससे स्वच्छता सर्वे रैंकिग में नुकसान हो सकता है। बाजार में दिन में भीड़ रहती है। इसलिए बाजार में रात के समय सफाई कराने के लिए नगर परिषद ने टेंडर कई माह पहले लगाया था। लेकिन कई माह से मुख्यालय से इसकी मंजूरी नहीं मिल पाई है। वहीं शहर में जगह-जगह कूड़े के भी ढेर लगे रहते हैं। जो नगर परिषद का कमजोर पक्ष है, इस पर जल्द काम करना होगा।

शौचालयों की कराएंगे मेंटेनेंस

नगर परिषद मुख्य सफाई निरीक्षक मोहन भारद्वाज ने बताया कि बाजारों में रात को सफाई करने का ठेका मंजूरी के लिए मुख्यालय गया हुआ है। वहां से मंजूरी मिलने के बाद बाजारों में रात के समय सफाई शुरू कराई जाएगी। सार्वजनिक शौचालयों की मेंटेनेंस कराई जाएगी। स्वच्छता सर्वे 2022 के लिए गाइडलाइन आ चुकी है। उसके अनुसार काम किया जाएगा। उम्मीद है इस बार जींद शहर को अच्छी रैंकिग मिलेगी।

Edited By: Jagran