संवाद सूत्र, नरवाना : परिवार पहचान पत्र भविष्य में प्रत्येक नागरिक की संपूर्ण एवं पुख्ता आइडी मानी जाएगी। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति का परिवार पहचान पत्र जरूर होना चाहिए। यह बात एसडीएम सुरेंद्र सिंह ने अधिकारियों की बैठक में कही। उन्होंने कहा कि विभागीय योजनाओं एवं सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों का लाभ भविष्य में परिवार पहचान पत्र युक्त व्यक्ति ही ले सकेगा। सभी अधिकारी एवं कार्य से जुड़े कर्मचारी यह सुनिश्चित करें कि उपमंडल में प्रत्येक व्यक्ति या परिवार का पहचान पत्र जरूर बने।

उन्होंने बताया कि नगर परिषद क्षेत्र, उझाना खंड में अभी भी करीब 20 ऐसे परिवार हैं, जो परिवार पहचान पत्र से वंचित हैं। उन्होंने परिवार पहचान पत्र बना रहे कर्मचारियों की टीम को निर्देश दिए कि वह इस कार्य में पूर्ण पारदर्शिता बरतें। परिवार पहचान पत्र बनाते समय परिवार के मुखिया से संपर्क जरूर करें, ताकि परिवार के प्रत्येक सदस्य का नाम व अन्य विवरण तस्दीक हो सके और परिवार की सही आइडी पोर्टल पर अपलोड की जा सके। उन्होंने सुपरविजन कर रहे अधिकारियों को अपनी टीम के कर्मचारियों से लगातार संपर्क एवं उचित मार्गदर्शन के लिए कहा।

बैठक में बीडीपीओ सुरेंद्र सिंह, नप ईओ सुशील कुमार, सचिव संदीप कुमार सहित प्रक्रिया से जुड़े अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

दलबीर मलिक बने सफीदों के कार्यवाहक बीईओ

सफीदों : प्राचार्य दलबीर मलिक को कार्यवाहक ब्लाक शिक्षा अधिकारी बनाया गया है। बुधवार को उनके पदभार संभालने पर फेडरेशन आफ प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने उनका अभिनंदन किया। संस्था के संरक्षक नरेश सिंह बराड़, अरुण खर्ब, हलकाध्यक्ष हवा सिंह खैंची, जसवीर सैनी, विनोद कंसल, रवि थनाई, अनिल खर्ब, रोहतास चहल, बीईओ कार्यालय के जगबीर व वजीर खर्ब मुख्य रूप से उपस्थित थे। कुछ दिन पहले कल्याण सिंह चहल ने सफीदों खंड शिक्षा अधिकारी का एडिशनल चार्ज लिया था। लेकिन उनके पास सफीदों के अलावा जींद और कलायत का भी कार्यभार था। जिस कारण उन्होंने यह जिम्मेदारी दलबीर मलिक को दे दी। दलबीर मलिक ने कहा कि स्कूलों में बच्चों को ज्यादा से ज्यादा शिक्षा सुविधाएं उपलब्ध करवाना उनका प्रमुख लक्ष्य रहेगा। बेहतर परीक्षा परिणामों के लिए वे विशेष रूप से कार्य करेंगे।

Edited By: Jagran