संवाद सूत्र, उचाना (जींद): उचाना हलके के गांव डूमरखां खुर्द के राजकीय स्कूल में बूथ नंबर 49 पर दोपहर को उस समय तनाव की स्थिति हो गई, जब जेजेपी उम्मीदवार दुष्यंत चौटाला व बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच तकरार हो गई। तकरार इतनी बढ़ गई कि बड़ी संख्या में पुलिस बल को बुलाना पड़ा। स्कूल परिसर में एक घंटे के करीब तनाव की स्थिति रही। डीसी जींद डॉ. आदित्य दाहिया, एसएसपी अश्विन शैणवी मौके पर पहुंचे। जेजेपी उम्मीदवार दुष्यंत चौटाला ने हंगामे के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उनके कार्यकर्ताओं ने जानकारी दी कि डूमरखां खुर्द गांव के बूथ नंबर 49 पर बीजेपी कार्यकर्ता फर्जी मतदान कर रहे हैं। जब वह गांव में पहुंचे तो यहां पर बुजुर्ग महिला आई, जिसका वोट पहले से डाला हुआ मिला। इस पर जब वहां के ड्यूटी पर कार्यरत कर्मचारी को कहा तो वहां पर बीजेपी एजेंट सोहन ने मेरी तरफ गिलास फेंका। यह बात जब वहां पर मौजूद डीएसपी चंद्रभान से कहा तो उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। एक बार एजेंट सोहन को बाहर निकाल दिया, लेकिन कुछ देर बाद फिर से अंदर बैठा दिया। डीएसपी चंद्रभान, बीजेपी एजेंट सोहन लाल सहित पांच, छह अज्ञात लोगों के खिलाफ कार्रवाई के लिए डीसी जींद, चुनाव आयोग अधिकारी को लिखा है ओर दोबारा से इस बूथ पर पोलिग की मांग की है। आरोप सरासर झूठा: सोहन

भाजपा एजेंट सोहन ने बताया कि जेजेपी उम्मीदवार दुष्यंत चौटाला डूमरखां खुर्द के राजकीय स्कूल में बने मतदान केंद्र पर पहुंचे तो वहां पर ईवीएम मशीन के पास जाकर वोट डालने का प्रयास किया। इस पर ऐतराज जताने पर तनाव की स्थिति पैदा हो गई। वो जो आरोप लगा रहे हैं, वो पूरी तरह से झूठे हैं। दुष्यंत चौटाला खुद यहां पर ईवीएम मशीन के पास जाकर वोट डालने का प्रयास कर रहे थे। आरोपों की जांच कर रहे

डीसी जींद डॉ. आदित्य दहिया ने कहा पूरी संतुष्टि से एक-एक चीज चेक की जा रही है। कई उम्मीदवारों ने जिले में शिकायत दी है हर शिकायत पर एक-एक जांच अधिकारी तुरंत लगा रहे है। उसकी जांच हम करेंगे। दुष्यंत चौटाला द्वारा गिलास फेंकने के जो आरोप लगाए हैं, उसको लेकर अभी तक ऐसा कोई वीडियो सामने नहीं आया है। इस मामले की हम जांच कर रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस