संवाद सूत्र, नरवाना : बदोवाल टोल प्लाजा पर किसानों का धरना लगातार सात महीनों से जारी है। लेकिन किसानों के हौसलें ज्यों के त्यों बने हुए है। मंगलवार को भी बदोवाल टोल पर किसानों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और किसान मजदूर एकता का परिचय दिया। धरने पर हर रोज की तरह पांच महिलाओं ने अनशन किया और होशियार सिंह ने मंच का संचालन किया। राष्ट्रीय मजदूर किसान मंच के प्रदेश महासचिव अंकुश परोचा ने भी बदोवाल टोल पर अनशन कर रही महिलाओं को अपना समर्थन दिया और किसानों को संबोधित किया। अंकुश परोचा ने कहा कि आज मेरी टीम सांकेतिक अनशन के लिए आई थी पर किन्हीं परिस्थितियों के कारण अनशन नहीं हो पाया। अनशन वो हथियार है, जिससे बड़ी से बड़ी लड़ाई जीती जा सकती हैं। परोचा ने कहा कि जब तक देश का अन्नदाता दुखी है, तो देश व प्रदेश सुखी नहीं रह सकते। राष्ट्रीय मजदूर किसान मंच किसानों के साथ मिलकर हर लड़ाई लड़ रहा है और जब तक केन्द्र सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं करती, तब तक पीछे नही हटेंगे। इस अवसर पर मा. बलबीर सिंह, रणधीर फूलियां, होशियार सिंह, मास्टर चांदी राम, दलबीर सिंह नैन, सुनील बदोवाल सहित किसान मौजूद रहे।

टिकरी बार्डर गांव से जाने वाली कावड़ यात्रा का किसान कर रहे है स्वागत

संसू, उचाना : कृषि कानूनों को वापिस लिए जाने की मांग को लेकर आठ महीने से लगातार किसानों का दिल्ली बार्डर पर धरना चल रहा है। अब गांव से दिल्ली बार्डर तक युवा खेत की मिट्टी, पानी लेकर कावड़ यात्रा निकाल रहे हैं। खटकड़ टोल पर इन कावड़ यात्रा का किसानों द्वारा जोरदार स्वागत किया जा रहा है। यह बातें खटकड़ टोल पर चल रहे किसानों के धरने की अध्यक्षता ईश्वर छातर ने की।

सांकेतिक भूख हड़ताल पर रामचंद्र फौजी, वेद प्रकाश शर्मा, लीलू बडनपुर, दलबीर रेढू, रणधीर डाहौला रहे। सतबीर पहलवान ने कहा कि खेत की मिट्टी और जल लेकर किसानों ने ट्रैक्टर-ट्राली में कावड़ यात्रा शुरू की है। किसानों का कहना है कि हर बार हरिद्वार जाते थे लेकिन अबकी बार अन्नदाता दिल्ली की सीमाओं पर बैठा है, इसलिए गांव की मिट्टी और खेत का जल लेकर दिल्ली की सीमाओं पर जा रहे है।

इस मौके पर बिजेंद्र सिधु, कैप्टन भूपेंद्र जागलान, कैप्टन वेदप्रकाश, कैप्टन रणधीर, हरिकेश काब्रच्छा, अनीस खटकड़, संदीप, राजेश, धर्मबीर मांडी, राजेश मौण, अनीता, गीता, कृष्णा, शीला जुलानी, मानसी घसो, प्रिया खटकड़, किरण बरसोला मौजूद रहे।

Edited By: Jagran