जागरण संवाददाता, जींद : तेलंगाना प्रदेश के हैदराबाद में महिला का सामूहिक बलात्कार कर उसकी जलाकर निर्मम हत्या करने के आरोपितों को पुलिस द्वारा एनकाउंटर में मार दिए जाने की कार्रवाई की जींद जिले में हर तरफ तारीफ हो रही है। जिले के लोग हैदराबाद पुलिस की इस कार्रवाई के मुरीद हो गए और सभी ने एक ही बात कही कि हरियाणा प्रदेश की पुलिस को उनसे सीखना चाहिए तथा यहां भी इसी तरह की कार्रवाई होनी चाहिए, तब जाकर बलात्कार की घटनाओं पर अंकुश लग सकता है।

हैदराबाद में कुछ दिनों पहले चार ट्रक ड्राइवरों और क्लीनर की ओर से एक महिला का सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसे जलाकर उसकी हत्या कर दी थी। इस घटना के बाद हर तरफ हत्यारोपितों को फांसी देने की मांग हो रही थी। कैंडल मार्च, मौन जुलूस निकाले जा रहे थे। शुक्रवार अल सुबह जैसे ही यह खबर आई कि दुष्कर्म के चारों आरोपितों को हैदराबाद पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है तो पुलिस की इस कार्रवाई से हर कोई हैरान तो था ही साथ ही खुश भी था, क्योंकि किसी ने सोचा भी नहीं था कि पुलिस इतनी बड़ी कार्रवाई भी कर सकती है। एनकाउंटर की इस घटना के बाद लोगों के विशेषकर महिलाओं के मिजाज को जानने के लिए दैनिक जागरण टीम ने प्राध्यापिकाओं, छात्राओं, वकील समेत दूसरे प्रबुद्ध लोगों की राय जानी, जो इस प्रकार से है। हैदाराबाद पुलिस की कार्रवाई एकदम सही

महिला की दुष्कर्म के बाद हत्या के आरोपितों का एनकाउंटर पुलिस की एकदम सही कार्रवाई है। इस तरह की कार्रवाई से सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या जैसा नृशंस अपराध करने वाले कई दफा सोचेंगे। हरियाणा पुलिस को भी ऐसी कार्रवाई करनी होगी, तभी जाकर इस तरह के अपराध पर अंकुश लग पाएगा। हाल ही में दुबई में भी रेपिस्ट को चौक पर खड़ा कर गोली मारने की घटना है, इसी तरह की कार्रवाई प्रदेश में भी होनी चाहिए।

-डॉ. सुमिता आसरी, प्राध्यापिका, महिला कॉलेज, जींद तेरहवीं से पहले न्याय सिद्धांत से बेटियों को मिल सकता है सुरक्षित माहौल

तेरहवीं से पहले न्याय सिद्धांत को लागू करने से बेटियों को सुरक्षित माहौल मिल सकता है। हैदराबाद, उन्नाव, कठुआ, सूरत, इंदौर, निर्भया जैसी न जाने कितनी घटनाएं बेटियों के साथ घट चुकी हैं, जो व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रही हैं। अगर पीड़िता को वारदात के 13 दिनों से पहले ही इंसाफ मिल जाए तो इस तरह के मामलों में कमी आ सकती हैं। अगर समाज में बेटियों को सुरक्षित रखना है तो तेरहवीं से पहले न्याय सिद्धांत पर काम करना होगा।

-सुखदेव, सहायक प्रोफेसर, महिला कॉलेज, जींद तड़पा-तड़पा कर मारना चाहिए था

हैदराबाद पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या के आरोपितों पर जो कार्रवाई की है, उनके जुर्म के हिसाब से यह छोटी कार्रवाई है। उन्हें सीधे एनकाउंटर की बजाय तड़पा-तड़पा कर मारना चाहिए था, ताकि दूसरा कोई इस तरह की गंदी और घिनौनी हरकत करने की जहमत नहीं उठाए। रेपिस्टों को जितनी दर्दनाक और भयंकर सजा मिलेगी, तभी जाकर रेप के मामलों पर अंकुश लगता है। अच्छे संस्कारों के अलावा कड़ी सजा ही रेप रोकने का एकमात्र तरीका है।

ईशा बंसल, प्राध्यापिका, महिला कॉलेज, जींद डायरेक्ट एक्शन से ही बनेगी बात

महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के आरोपितों पर हैदराबाद पुलिस ने एनकाउंटर की जो कार्रवाई की है, इससे वह पूरी तरह सहमत हैं। आरोपितों को गोली मार फैसला ऑन द स्पॉट करना होगा। डायरेक्ट एक्शन होगा, तभी दुष्कर्म जैसी घटनाओं में कमी आ पाएगी। इस तरह की आपराधिक वारदातों को अंजाम देने वालों के मन में डर बनेगा।

दीपक लाठर, डीएसएल एकेडमी संचालक पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट

सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या करने के आरोपितों पर हैदराबाद पुलिस ने जो कार्रवाई की है, उससे वह बिल्कुल संतुष्ट हैं। इस तरह के आरोपितों को इसी तरह की सजा मिलनी चाहिए। तभी जाकर ऐसा काम करने वालों के मन में डर बनेगा।

यशिका शर्मा, छात्रा रेप जैसी घटनाओं को रोकने के लिए ऐसी कार्रवाई जरूरी

रेप जैसी घटनाओं पर अगर अंकुश लगाना है तो हरियाणा पुलिस को भी इसी तरह की कार्रवाई करनी होगी। प्रदेश में कानून ही ऐसा बनाया जाए कि रेप के आरोपितों को सीधे मौत की सजा हो।

मनीषा, छात्रा रेपिस्टों को किया जाए पब्लिक के हवाले

हैदराबाद पुलिस की कार्रवाई से वह सहमत हैं लेकिन रेपिस्टों को इतनी आसान मौत देने की बजाय पब्लिक के हवाले कर दिया जाए, ताकि उनकी मौत भी उतनी ही दर्दनाक हो, जितनी उन्होंने दुष्कर्म पीड़िता को दी। तभी दूसरे लोग भी इस तरह के कुकृत्य करने से बचेंगे।

नीतू, छात्रा। दुआ कुबूल हो गई

बलात्कार व हत्या आरोपियों के एनकाउंटर से सारा देश खुश है। सभी की दुआ कबूल हो गई और आरोपितों को सजा मिल ही गई। इस घटना से जहन में कुछ सुकून मिला है। ऐसी घटना सभी के लिये घातक है। इसे जड़ से खत्म करना चाहिए। बहन-बेटी किसी की भी हो, उनकी रक्षा करना हमारा प्रथम धर्म है।

आशीष सैनी, युवा समाजसेवी दुष्कर्मियों पर ऐसी सख्ती जरूरी

महिला चिकित्सक से दुष्कर्म के आरोपियों को ढेर करके हैदराबाद पुलिस ने बेहद अच्छा काम किया है। गलत काम करने वालों के साथ इस तरह का सलूक होगा, तभी ऐसी घटनाओं पर रोक लग पाएगी। आज पूरा देश खुशी मना रहा है। जब तक दुष्कर्मियों के खिलाफ इस तरह सख्ती नहीं बरती जाएगी, तब तक इन वारदातों पर रोक नहीं लगेगी।

जितेंद्र छातर, भाजपा नेता

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस