संवाद सहयोगी, अलेवा : पंचायत निदेशक के आदेशों के बाद डाहौला गांव में चल रहे विकास कार्यों के निरीक्षण के लिए शनिवार को पंचायती राज एक्सईएन प्रेम सिंह राणा गांव पहुंचे। डाहौला गांव में निरीक्षण के लिए पहुंचे पंचायती राज एक्सईएन को गांव के धर्मबीर, प्रताप तथा रामकरण शर्मा ने बताया कि गांव की दरगा पटटी की चौपाल के निर्माण के लिए करीब 28 लाख रुपये आए थे, लेकिन ठेकेदार द्वारा सभी रुपये खर्च होने की बात कहकर बीच में ही चौपाल का काम रोक दिया।

चौपाल का निर्माण कार्य पूरा नहीं होने के कारण गांव के लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यही नहीं गांव के लोगों ने चौपाल कार्य के लिए अपने स्तर पर भी दो लाख रूपये के करीब इकट्ठा कर काम को सुचारू रूप से चालू करने की बात कही, लेकिन ठेकेदार द्वारा काम के लिए आए सभी रुपये खर्च होने की बात कहकर बीच में ही काम बंद कर दिया है। काम को दोबारा से चालू करवाने को लेकर गांव के लोग चंडीगढ में पंचायती विभाग के निदेशक से भी मिल चुके हैं। जिससे पंचायत निदेशक ने काम को चालू करने के आदेश विभाग के अधिकारियों को दिए थे।

विभाग द्वारा बनाया जाएगा एस्टीमेट

पंचायती राज एक्सईएन प्रेम सिंह राणा ने बताया कि डाहौला गांव की दरगा पटटी में चौपाल के निर्माण पर करीब 28 लाख रुपये खर्च होने थे। जोकि लगभग खर्च हो चुके हैं। काम को सुचारू से चालू रखने के लिए गांव के लोग पंचायत निदेशक से चंडीगढ़ में मिले थे। निदेशक के आदेशों के चलते डाहौला गांव में विकास कार्यों का निरीक्षण किया है। विभाग के जेई को काम को सुचारू से चालू रखने के लिए एस्टीमेट बनाने के लिए बोल दिया है। एस्टीमेट पास होते ही काम को चालू करवा दिया जाएगा।

Edited By: Jagran