संवाद सूत्र, उचाना : खटकड़ टोल के पास किसानों का तीनों कृषि कानूनों के विरोध में धरना जारी है। धरने की अध्यक्षता मेवा सिंह करसिधु ने की। भूख हड़ताल पर मेवा सिंह, बीरा, रघुबीर, रामनिवास करसिधु रहे। 20 अप्रैल को सर्वसम्मति से किसानों के धरने पर जिले के सर्व समाज सर्व खाप की बैठक बुलाने का निर्णय लिया गया। इस बैठक में 25 अप्रैल को प्रस्तावित जींद में भाजपा नेताओं के होने वाले कार्यक्रम के विरोध को लेकर रणनीति तय की जाएगी।

भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रधान आजाद पालवां ने कहा कि इंटरनेट के माध्यम से पता चला है कि सरकार किसान धरने को उठाने के लिए मिशन क्लीन चला सकती है। धरने पर बैठे किसानों के साथ अगर किसी तरह की छेड़छाड़ की तो किसान सहन नहीं करेंगे। किसान शांति पूर्वक तरीके से अपना आंदोलन चल रहे हैं। आंदोलन को खत्म करने के लिए ओछी हरकत की गई तो किसान मरने से भी पीछे नहीं हटेंगे। खेड़ा खाप प्रधान सतबीर पहलवान ने कहा कि गेहूं की खरीद के नाम पर किसानों को परेशान किया जा रहा है। गेहूं की खरीद पूरे सप्ताह होनी चाहिए लेकिन शनिवार, रविवार को यह कह कर बंद कर दी कि आवक अधिक हो चुकी है लोडिग की जाएगी। दो दिन खरीद नहीं होगी। कभी किसानों को पंजीकरण तो कभी मैसेज के नाम पर परेशान किया जा रहा है। इस मौके पर बिजेंद्र सिधु, छज्जूराम नैन, जयदीप रधाना, अमित निडानी, लीला छापड़ा, सूरजमल खटकड़, अमरपाल थुआ, सूरजभान घासो, धर्मबीर सुदकैन, ओमप्रकाश शर्मा, रमेश कामरेड, रोहताश नगूरां, ज्ञानीराम आदि भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप