जागरण संवाददाता, जींद: स्वास्थ्य कर्मचारी संघ संबंधित हरियाणा राज्य कर्मचारी संघ की जिला कमेटी के आह्वान पर स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को हटाने के विरोध में दूसरे भी सिविल सर्जन कार्यालय के सामने धरना दिया। कर्मचारियों ने प्रदर्शन करते डीसी डा. आदित्य दहिया को स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के नाम ज्ञापन भी सौंपा। वहीं, कंपनी ने कर्मचारियों ने काम न करके राजनीति करने का आरोप लगाया है।

मंगलवार को प्रदर्शन की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष आर्य कुलदीप व आउटसोर्सिंग विग के जिलाध्यक्ष सोनू बूरा ने की व मंच संचालन जिला सचिव गौरव सहगल ने किया।

संघ की ओर से प्रदेश संगठन मंत्री दिनेश कौशिक ने बताया कि धरने को कर्मचारी नेता विनोद शर्मा, कर्मवीर संधू, सतबीर बूरा, मुकेश भट्ट, राजेश गौतम, राममेहर जांगड़ा, नितिन खर्ब, कृष्ण लाल ने संबोधित किया। सभी वक्ताओ ने स्वास्थ्य विभाग व एमजे सोलंकी कंपनी को कोसते हुए जमकर नारेबाजी की। कर्मचारियों ने कहा कि सफीदों इकाई के अध्यक्ष विकास कुमार को निराधार शिकायतों के आधार पर हटा दिया है।

धरने व प्रदर्शन को शीतल खरकरामजी, संदीप कंडेला, अमित कालवा, रविन्द्र जुलाना, रमेश अलेवा, सोनू बूरा उचाना, ओमबीर नरवाना, आर्य बलिद्र उझाना, दीपक सफीदों, संजय मुआना आदि ने संबोधित किया।

कंपनी के अधिकारी बोले: ड्यूटी पर काम नहीं कर कर्मचारी

आउटसोर्स कंपनी के अधिकारियों ने कहा कि नागरिक अस्पताल में लगे कर्मचारी अपने पद की शर्तों को पूरा नहीं कर रहे हैं। जिस कर्मचारी के जिम्मे जो काम है, वह उस काम को नहीं कर रहा है। कई कर्मचारी अपनी राजनीति चमकाने में लगे हुए हैं और आउटसोर्स कर्मचारियों से 500-500 रुपये इकट्ठे करके मौज कर रहे हैं। राजनीति चमकाने वाले ये नेता अपना काम खुद नहीं करते और दूसरे कर्मचारियों पर रौब झाड़ कर उनसे करवाते हैं। ड्यूटी पर भी नहीं आते। इस कारण ऐसे गैरजिम्मेदार कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

Edited By: Jagran