जागरण संवाददाता, जींद : स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बुधवार को निजामुद्दीन मरकज से घर लौटे नौ मुस्लिम लोगों के घर पर दस्तक दी। जहां पर टीम ने उनके स्वास्थ्य की जांच की और उनके साथ गए दूसरे लोगों के बारे में जानकारी हासिल की। फिलहाल किसी में कोरोना से संबंधित कोई लक्षण नहीं है। इसमें चार लोग जींद शहर व पांच लोग उचाना उपमंडल के गांव हथो के रहने वाले हैं। विभाग की टीम ने नौ लोगों को होम क्वारेंटाइन कर दिया।

स्वास्थ्य विभाग को यह भी जानकारी मिली है कि निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए दुर्गा कॉलोनी के एक व्यक्ति स्वास्थ्य बिगड़ने पर दिल्ली के अस्पताल में दाखिल है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उसके घर पर भी दस्तक दी और परिवार के लोगों के स्वास्थ्य की जांच की। टीम में शामिल वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. रमेश पांचाल, डा. नरेश वर्मा, स्वास्थ्य निरीक्षक राममेहर वर्मा की टीम बुधवार दोपहर को विश्वकर्मा कॉलोनी में पहुंची। जहां पर ईएनटी के एक डॉक्टर के घर पर दस्तक दी। यह व्यक्ति ईएनटी का रुपया चौक पर क्लीनिक चलता है, लेकिन पिछले दिनों से बंद किया हुआ है। इस दौरान ईएनटी डॉक्टर ने बताया कि वह 9 से 11 मार्च तक निजामुद्दीन मरकज में शामिल था। इस दौरान उसके साथ शीतलपुरी कॉलोनी व हनुमान नगर के दो लोग भी उसके साथ थे। वह उसी दिन वहां से निकल आए थे। इसके बाद टीम ने बारी-बारी उनके घर पर दस्तक दी और उनके स्वास्थ्य की जांच की। जहां पर तीनों में कोरोना से संबंधित कोई भी लक्षण नहीं मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने राहत की सांस ली। इसी पर स्वास्थ्य विभाग की दूसरी टीम ने उचाना उपमंडल के गांव हथो में दस्तक दी। इस गांव के पांच लोग मरकज से शामिल होकर लौटे थे। गांव के लोगों की सूचना पर इन लोगों को उचाना के नागरिक अस्पताल में लेकर आए और वहां पर उनकी जांच की। इन लोगों में भी कोरोना से संबंधित कोई लक्षण नहीं मिला। इसके चलते उनको भी घर पर ही क्वारेंटाइन किया है।

----------------------------

शिलोंग से लौटे व्यक्ति का लिया सैंपल

सिविल सर्जन डॉ. जयभगवान जाटान ने बताया कि सफीदों का एक व्यक्ति पिछले दिनों शिलोंग से घर पर आया था। उस व्यक्ति को गले में दर्द की शिकायत थी। इसके चलते स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सफीदों पहुंचकर उस व्यक्ति का सैंपल लेकर जांच के लिए मेडिकल कॉलेज खानपुर भेजा है। फिलहाल उस व्यक्ति को सफीदों के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

---------------------------

जालंधर से लौटे व्यक्ति का भी स्वास्थ्य जांचा

28 मार्च को विश्वकर्मा कॉलोनी में मुस्लिम समुदाय का एक व्यक्ति घर पर लौटा है। उसके घर आते ही आसपास के लोगों ने जिला प्रशासन को अवगत करवाया। इसके बाद विभाग की टीम मौके पर पहुंची और उसके स्वास्थ्य की जांच की। उस व्यक्ति ने बताया कि वह डिफेंस में काम करता है और कुछ दिन पहले ही घर वापस लौटा है। उसके साथ जींद के कुछ और भी युवा शामिल थे। जिस पर टीम ने उसकी जांच की और उसके साथ आए युवकों के पतों की भी जानकारी हासिल की। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उसे भी होम क्वारेंटाइन कर दिया।

--------------

दो दिन पहले लौटे व्यक्ति की लगातार कर रहे निगरानी

जिप्सम फैक्ट्री के निकट 30 मार्च को निजामुद्दीन मरकज से लौटे मुस्लिम समुदाय के व्यक्ति पर स्वास्थ्य विभाग की सबसे ज्यादा नजर है। स्वास्थ्य विभाग की टीम बार-बार उनके स्वास्थ्य पर नजर बनाए हुए हैं और परिवार के लोगों से भी अलग रहने के निर्देश दिए हुए है। फिलहाल उन व्यक्ति को होम क्वारेंटाइन किया हुआ है और फिलहाल उसमें लक्षण दिखाई नहीं दे रहे, लेकिन मकरज में शामिल ज्यादातर लोग कोराना पॉजीटिव होने के कारण विभाग को उस पर भी अंदेशा बना हुआ है। इसलिए स्वास्थ्य विभाग की डॉक्टरों की टीम उनकी बार-बार जांच कर रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस