जागरण संवाददाता, जींद : सामाजिक रिश्तों का महत्व एवं बच्चों को नकारात्मक प्रभाव से कैसे सुरक्षित रखें विषय पर ढाठरथ के एनएस उच्च विद्यालय में जिला बाल कल्याण परिषद की ओर से सेमिनार का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता स्कूल प्राचार्य अजीत आर्य ने की।

जिला बाल कल्याण अधिकारी अनिल मलिक ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि जैसे बच्चे पेंसिल का इस्तेमाल बार-बार छील कर करते हैं। अभिभावक परवरिश करते हुए बच्चों को यह सीख दे सकते हैं कि निरंतर चलते रहने के लिए कठिन परिश्रम की आवश्यकता है। पारिवारिक एवं समाजिक रिश्तों में बेहतर तालमेल बैठाने के लिए संयम, सहनशीलता और समझदारी की सीख देते रहना चाहिए। अभिभावकों को बच्चों की परवरिश के दौरान बच्चों को मजबूत और आत्मनिर्भर के साथ-साथ समझदार और परिपक्व बनाने की कोशिश भी होनी चाहिए। परामर्शदाता सोहन ने परिवार परामर्श केंद्र की भी चर्चा की। उन्होंने बताया की पारिवारिक संबध अच्छे होगे तो घर का वातावरण भी सही होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस