जागरण संवाददाता, जींद : कोरोना से बचाव की खातिर वैक्सीनेशन को लेकर अब लोगों की लंबी लाइनें लगनी शुरू हो गई हैं। शनिवार को नागरिक अस्पताल के पीपी सेंटर में लगी लंबी लाइन इस बात का गवाह है कि कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों में जो भ्रंति थी, वह पूरी तरह से दूर हो चुकी है। सभी लोग समझ चुके हैं कि कोरोना वैक्सीन सुरक्षित है और महामारी से बचाव की यह डोज सभी को लगवानी चाहिए।

शनिवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा 22 वैक्सीनेशन प्वाइंटों पर 3149 लोगों का टीकाकरण किया गया। इनमें 18 से 44 की उम्र के 1765 लोग शामिल थे। वैक्सीन लगवाने के लिए इस उम्र के लोग बड़ी संख्या में नागरिक अस्पताल के पीपी सेंटर पहुंचे थे। यहां पर लोगों को धूप से बचाने के लिए सेवा भारती संगठन ने अपनी तरफ से टैंट भी लगवाया है। सेवा भारती के प्रदीप कुमार और आरएसएस के जिला प्रचारक वीरभान ने 4 दिन पहले सिविल अस्पताल के दौरे के समय यह तय किया था कि पीपी सैंटर के सामने वैक्सीन लगवाने के लिए आने वाले लोगों की सुविधा के लिए टैंट लगवाया जाएगा।

एक लाख 30 हजार 564 लोगों को लग चुका टीका

स्वास्थ्य विभाग द्वारा अब तक जिले के एक लाख 30 हजार 564 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। इनमें पहली डोज एक लाख 18 हजार 348 और 12216 लोगों को दूसरी डोज लग चुकी है। शनिवार को 18 से 45 साल की उम्र के बीच के 1765 लोगों को कोविशील्ड लगाई गई। 45 से 59 साल की उम्र के 475 लोगों को पहली और 229 लोगों को दूसरी डोज लगी। 60 साल से ज्यादा की उम्र के 246 लोगों को पहली और 362 लोगों को दूसरी डोज लगी। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. नवनीत ने बताया कि हर रोज तीन हजार से ज्यादा लोगों को वैक्सीनेशन किया जा रहा है। स्टाफ की उपलब्धता के आधार पर वैक्सीनेशन प्वाइंट और स्लॉट बढ़ाए जाएंगे।