जींद [कर्मपाल गिल]। पिछले साल साध्वी यौनशोषण मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाने वाले सीबीआइ जज अपने पैतृक गांव राजपुरा भैण पहुंचे तो उनका शानदार स्वागत किया गया। ग्रामीणों ने जज जगदीप सिंह को कहा, बेटा, हम तो धन्य हो गए हैं। आपने गांव राजपुरा भैण का नाम पूरे देश में रोशन कर दिया है। तभी दूसरा ताऊ बीच में बात काटते हुए बोलता है। बेटा, जितने भी फर्जी बाबे हैं, उन सबनै सिरसा आलै की ढाल जेल कै भीतर कर दो। यह सुनते ही जज जगदीप सिंह ने जुबा से कुछ नहीं बोले, लेकिन जोर से ठहाका मारकर हंसे।

जज जगदीप सिंह ने गांव के सरकारी स्कूल में टॉपर बच्चों को सम्मानित करने पहुंचे थे। इस दौरान गांव और खाप के मौजिज लोगों ने उनका जोरदार अभिनंदन किया। कोई उनके सिर पर हाथ रखकर आशीर्वाद दे रहा था तो कोई छाती से लगाकर खुद को गद्गद् महसूस कर रहा था। सभी बुजुर्गो को राम-राम करके जगदीप उनके बीच डेस्क पर बैठ गए।

खाप के लोगों ने कहा कि भगवान आपको खूब सारी ताकत दे। आप ऐसे ही बड़े फैसले लेते रहो और नाम कमाओ। कई बुजुर्गो ने कहा कि उन्होंने बाबा को जेल में भेजकर हरियाणा की जनता को धन्य कर दिया है। जज जगदीप सिंह मुस्कराकर सबकी बातें सुनते रहे, लेकिन बोले कुछ नहीं। अपनी मर्यादा में रहते हुए सबकी सुनते रहे।

डेरा प्रमुख के कट्टर भक्त के बेटे को भी किया सम्मानित

जगदीप सिंह ने पैतृक गांव के सरकारी स्कूल के दसवीं और बारहवीं के चार टॉपर विद्यार्थियों को सम्मानित किया। इनमें दसवीं का टॉपर छात्र शुभम का परिवार सिरसा डेरा प्रमुख गुरमीत का कट्टर भक्त है। इसी कारण शुभम के साथ पिता रामनिवास के बजाय उसकी मां सम्मान समारोह में आईं। शुभम की मां ने जगदीप सिंह को नमस्कार भी किया और फोटो भी खिंचवाई। शुभम भी इनाम ग्रहण करके काफी खुश दिखाई दे रहा था।

यह भी पढ़ेंः दोस्त के घर ले जाकर किया नाबालिग लड़की से सामूहिक दुष्कर्म

Posted By: Kamlesh Bhatt