संवाद सूत्र, उचाना : पांच सितंबर की मुजफ्फरनगर में होने वाली किसान महापंचायत को लेकर किसान नेताओं ने काब्रच्छा, सुदकैन खुर्द, मांडी गांवों के दौरे किया। यहां पर लोगों से अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने का आह्वान किया। भाकियू (चढूनी) जिलाध्यक्ष आजाद पालवां ने कहा कि जींद जिले से पूरे हरियाणा में सबसे अधिक भागीदारी किसान महापंचायत में होगी। इस महापंचायत में देश के कौने-कौने से किसान पहुंचेंगे। पालवां ने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है जब धान की फसल को लेकर यूरिया खाद की किल्लत हुई हो। गेहूं की फसल में तो यूरिया की किल्लत हो जाती थी, लेकिन आज तक धान की फसल को लेकर यूरिया की किल्लत नहीं हुई थी। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का हलका होने के बाद भी यहां खाद की किल्लत बनी हुई है। यूरिया खाद लेने के लिए किसान भटक रहे है। सरकार जल्द से जल्द किसानों को पर्याप्त मात्रा में यूरिया खाद उपलब्ध करवाए। इस समय धान की फसल को यूरिया खाद की जरूरत है। समय पर यूरिया खाद फसल में नहीं डाला गया तो फसल का उत्पादन प्रभावित होगा। किसानों को उनकी डिमांड के अनुसार यूरिया खाद मुहैय्या करवाई जाए ताकि किसान धान की फसल में समय पर यूरिया डाल सकें।

इस मौके पर सिक्किम सफा खेड़ी, धर्मबीर सुदकैन, वेदप्रकाश, लीला सेढ़ा माजरा, पिकी नेहरा, सुमन हुड्डा, पूनम रेढू, अनिता सुदकैन, सुरेंद्र देवी, पवन, रणधीर पालवां मौजूद रहे।

जयराम अस्पताल में निश्शुल्क कैंप में 567 ने कराई जांच

संसू, नरवाना : जयराम धर्मार्थ अस्पताल में 25 से 31 अगस्त तक निश्शुल्क ओपीडी शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 567 मरीजों ने अपने स्वास्थ्य की जांच करवाई। हृदय एवं छाती रोग विशेषज्ञ डा. वीरेन्द्र कुंडू व शिशु एवं बाल रोग विशेषज्ञ डा. विनोद पांडे ने बताया कि कैंप में अनुभव किया कि नरवाना क्षेत्र में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं का काफी अभाव है। संस्था के प्रधान कैलाश सिगला ने बताया कि भविष्य में भी निश्शुल्क कैंप लगाए जाएंगे।

Edited By: Jagran