जासं, जींद : हरियाणा स्कूल लेक्चरर एसोसिएशन (हसला) ने बुआना के राजकीय स्कूल में चल रहे विवाद में प्राध्यापक अशोक कुमार के पक्ष में उतरते हुए उनके खिलाफ दर्ज एफआइआर का विरोध किया है। हसला की जिला कार्यकारिणी की बैठक राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में प्रधान राजबीर रेढू की अध्यक्षता में हुई। उसी बैठक में यह विरोध किया गया।

हसला के पूर्व प्रधान मुकेश नैन और उपप्रधान बलिंद्र नैन ने कहा कि इस मामले में उनके खिलाफ दर्ज कराई गई शिकायत झूठी है। राजबीर रेढू ने बताया कि कुछ संगठन अपनी झूठी शान तथा अहम को लेकर पूरे मामले को तूल दे रहे हैं। इतना ही नहीं शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी एक पक्षीय कार्रवाई कर स्कूलों के शैक्षणिक माहौल को खराब करने पर तुले हुए हैं, जो व्यावहारिक नहीं है। गौरतलब है कि प्राध्यापक अशोक कुमार ने पिछले दिनों जुलाना की बीईओ की सह पर कुछ शिक्षकों द्वारा उनके साथ मारपीट करने के आरोप लगाए थे। उसके बाद उनकी शिकायत पर पुलिस ने बीईओ और कुछ शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। बीईओ के खिलाफ मामला दर्ज होने पर कई कर्मचारी संगठन और अधिकारी उनके समर्थन में उतर आए। इसके बाद एक शिक्षिका ने अशोक कुमार के खिलाफ उसे प्रताड़ित करने और धमकी देने का मामला दर्ज करा दिया। हसला ने डीसी और एसएसपी से इस मामले की निष्पक्ष जांच करने की मांग की है। बैठक में बड़ी संख्या में हसला के सदस्य और पदाधिकारी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस