जागरण संवाददाता, जींद : भाजपा विधायक डा. कृष्ण मिढ़ा ने सोमवार को जन स्वास्थ्य विभाग तथा शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों की संयुक्त टीम के साथ शहर का दौरा किया। इस दौरान शहर में चरमराई सीवरेज व्यवस्था तथा शहर में पानी भराव की समस्या के समाधान को लेकर मौके पर ही अधिकारियों से जवाब-तलबी की गई। विधायक ने पिछले दिनों दोनों विभागों की संयुक्त टीम बना कर शहर में जायजा लेने के आदेश दिए थे। सोमवार को विधायक ने स्वयं जाकर टीम को मौका मुआयना कराया। विधायक ने रानी तालाब, नरवाना रोड, हकीकत नगर, अपोलो रोड, रामबीर कालोनी, लक्ष्मी नगर, पटेल नगर सहित अनेक कालोनियों में टीम के साथ गली-गली घूम कर अधिकारियों को हालात से रूबरू करवाया। पटवारी स्कूल के पास हालात को देखकर विधायक ने अधिकारियों को फटकार लगाई। विधायक ने जन स्वास्थ्य विभाग के उपमंडल अधिकारी सतीश नैन को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि दो दिन के अंदर विभाग चाहे कोई इंतजाम करे, इन कालोनियों की समस्या को लेकर कोई फोन काल नहीं आनी चाहिए, वरना अधिकारी कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

इस दौरान विधायक ने अपोलो रोड, हकीकत नगर, रामबीर कालोनी के लोगों की समस्याएं भी सुनी। इस दौरान उनके साथ निवर्तमान पार्षद हरपाल सिंह, गुलशन कुमार आहुजा, जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी तथा शहरी स्थानीय निकाय विभाग के कार्यकारी अभियंता सुमित मलिक, एमई भूपेंद्र सिंह तथा विभाग के जूनियर इंजीनियर भी मौजूद रहे।

रानी तालाब पर बने फुटपाथ पर बनेंगे चैंबर

रानी तालाब पर बने फुटपाथ पर चैंबर बनाए जाएंगे, जिससे बरसाती पानी रानी तालाब में जा सके। वहीं गंदा पानी रानी तालाब में जाने से रोकने के लिए सीवरेज लाइन को एसडी स्कूल की तरफ रानी तालाब के गेट के पास ही बंद किया जाएगा। पिछले सप्ताह हुई बारिश के दौरान रानी तालाब के पास पानी भर गया था। प्रशासन ने निकासी के लिए रानी तालाब की दीवार तुड़वा दी थी। जयती जयती हिदू महान संगठन ने दीवार तोड़ने का विरोध जताया था और ऐतराज जताया था कि बारिश के पानी के साथ सीवर का गंदा पानी भी रानी तालाब में छोड़ा गया। लोगों की धार्मिक आस्था को ध्यान में रखते हुए रानी तालाब के पास सीवर लाइन बंद करने का फैसला लिया गया। वहीं नरवाना रोड पर रामबीर कालोनी में कुछ गलियां नीची हैं, जहां हल्की बारिश में भी पानी भर जाता है। इन गलियों को ऊंचा उठाने के लिए नगर परिषद एस्टीमेट तैयार करेगी।

विभाग की लेटलतीफी के कारण लाइन बिछाने में देरी

विधायक डा. कृष्ण मिढ़ा ने कहा कि उनके पिता स्व. डा. हरिचंद मिढ़ा द्वारा लगभग 20 करोड़ रुपये की लागत से अहिरका एसटीपी से कालवा किनाना ड्रेन तक लाइन बिछाने का कार्य मंजूर कराया था। लेकिन विभाग की लेटलतीफी के कारण अभी तक प्रोजेक्ट पूर्ण नहीं हो पाया है। विधायक ने कहा कि रानी तालाब पर जलभराव की समस्या के समाधान के लिए नाले का विकल्प ढूंढा गया है जिसके चलते अब किसी सूरत में रानी तालाब में नाले का गंदा पानी नहीं जाएगा।

Edited By: Jagran