अलेवा : शामदो निवासी राजेश उर्फ राजा ने गांव के ही दो व्यक्तियों के साथ मिलकर पैसों के लेनदेन को लेकर 28 वर्षीय राजीव की बोहतवाला के नजदीक 21 मार्च को गोली मार कर हत्या की थी। रिमांड के दौरान पूछताछ में राजेश ने मामले का खुलासा किया। पुलिस के समक्ष किए खुालासे में राजा ने बताया कि राजीव ठेके में उसका साझेदार था। इसी को लेकर राजीव के उसने पांच लाख रुपये देने थे। रुपये देने को लेकर आए दिन राजीव उसको धमकी देता रहता था। इसी रंजिश को लेकर गांव के ही सुखविद्र उर्फ कीड़ू के साथ मिलकर राजीव की हत्या की योजना बनाई। लेकिन राजीव को उन दोनों पर विश्वास नहीं था। इसलिए इस काम में राजीव के खास दोस्त ओमप्रकाश उर्फ काला को साथ लिया। ओमप्रकाश को शराब पिलाकर राजीव को गाड़ी में साथ ले जाने के लिए तैयार किया। इसी दौरान गाड़ी में ही हैबतपुर के नजदीक चार गोली राजा ने तथा दो गोली सुखविद्र ने राजीव को मारी थी। गोली मारने के बाद राजीव के शव को गोहाना के नजदीक नहर पर झाड़ियों में फेंक दिया था। विदित रहे कि 21 मार्च को शामदों निवासी रघबीर ने 25 वर्षीय बेटे राजीव के अचानक गायब होने की पुलिस को शिकायत दी थी। पुलिस ने शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर गायब युवक की तलाश शुरू कर दी थी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस