संवाद सूत्र, सफीदों : गांव हाट के एक घर में सिलेंडर लीक होने से घर की छत, सामान व नकदी जल गई। सिलेंडर लीकेज का कारण सिलेंडर में रबर की वाल न होना बताया जा रहा है। मकान मालिक सुनील ने बताया कि कुछ दिन पूर्व गैस सिलेंडर भरवाया था। सुबह जब घर का सिलेंडर खत्म हो गया और नया सिलेंडर लगाकर जैसे ही गैस चूल्हा जलाया तो एकदम से आग की सीधी लपट उठी और पूरे घर को अपनी चपेट में ले लिया। आग की लपटे इतनी लंबी थी कि वो सीधी छत को छू रही थी। आग लगने का पता चलते ही गांव के भारी तादाद में लोग मौके पर जमा हो गए और आग बुझाने के प्रयास में लग गए। लोगों ने ट्यूबवैल चलवाकर किसी तरह से आग पर काबू पाया लेकिन तब तक आग से घर की छत, सामान, खरपतवार नाशक दवाईयां व नकदी जलकर राख हो गई। सुनील ने बताया कि अभी कुछ ही दिनों पूर्व उन्होंने पशु बेचा था उसकी नकदी घर में ही रखी थी और आग में वह भी स्वाहा हो गई। गनीमत यह रही कि किसी प्रकार का जानमाल का नुकसान नहीं हुआ। मामले की सूचना इंडेन एजेंसी को सूचित किया गया। सूचना पाकर एजेंसी के मालिक जगदीप कुमार मौके पर पहुंचे और मौके का मुआयना किया। जगदीप कुमार ने बताया कि मकान का मुआयना करने के बाद रिपोर्ट तैयार करके उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी।

----------------

हाट में सिलेंडर लीकेज की है यह दूसरी घटना

हाट गांव में सिलेण्डर लीकेज की यह दूसरी घटना है। इससे पूर्व 4 फरवरी को भी इसी प्रकार का घटनाक्रम सामने आया था। 4 फरवरी सुबह हाट गांव के सत्यवीर सिंह की रसोई का सिलेंडर खत्म हो गया। सत्यवीर के धर्मपत्नी ने खाली सिलेंडर उतारकर भरा हुआ सिलेंडर लगाकर जैसे ही चुल्हा जलाया तो एकदम से सिलेंडर ने आग पकड़ ली और उसमें से जोरदार आग निकलने लगी थी। किसी तरह से जले सिलेंडर को घर से बाहर निकाला गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस