संवाद सूत्र, नरवाना : बद्दोवाल टोल पर चल रहे धरने के 69वें दिन की अध्यक्षता पिरथी सिंह ने की, तो मंच संचालन का जिम्मा होशियार सिंह ने संभाला। क्रमिक अनशन पर नरवाना से महिला रामप्यारी, धर्मगढ़ से सीमा तथा इस्माइलपुर से उषा, संतोष तथा जंगीरो बैठी। मुख्य वक्ता बलबीर सिंह ने कहा कि देश आज बहुत ही नाजुक दौर से गुजर रहा है, क्योंकि चारों ओर लूट मची हुई है। केंद्र सरकार ने देश का सारा धन पूंजीपतियों को सौंप दिया है, जिसका खामियाजा आंदोलन के रूप में किसानों को भी भुगतना पड़ रहा है। महिला किसान सीमा धर्मगढ़ ने कहा कि आंदोलन के लिए दो चीजों की जरूरत होती है। 36 बिरादरी का भाईचारा व रोटी, ये दोनों हमारे पास है। हम लड़ेंगे और जीतेंगे, डरने की कोई बात नहीं है। धरने में कलाकार कर्मबीर फौजी ने पत्नी के साथ समर्थन देकर अपने देशभक्ति के गीतों से आंदोलनकारियों में जोश भरा, तो युवा कलाकार अरमान ने अपने गीत से सरकार को चेतावनी दी। धरने में धर्मपाल चहल, महेंद्र, बलराज पंघाल, डॉ रामचंद्र, बलजीत, सुरजाराम, सुभाष लांबा, मस्ताना, जयपाल दनौदा, बसाऊ राम, चांदीराम, कुलदीप गर्ग, सत्यवान, सुनील बद्दोवाल, सतबीर खरल, महिला अंग्रेजो, केलो, संतोष, भतेरी, नीलम मौजूद रहे।

अपने मकानों पर लगाएं भाकियू के झंडे : आजाद पालवां

संवाद सूत्र, उचाना : खटकड़ टोल पर किसानों के चल रहे धरने को संबोधित करते हुए भाकियू जिलाध्यक्ष आजाद पालवां ने कहा कि ग्रामीण अपने घरों पर भाकियू का झंडा लगाएं। देश भर में संयुक्त किसान मोर्चा के सदस्य महापंचायत कर रहे हैं। इन महापंचायतों में उमड़ रही भीड़ से साबित हो गया है कि जिस आंदोलन को सरकार हलके में ले रही थी, आज वह जन आंदोलन बन चुका है। किसान तीनों कृषि कानूनों को नहीं चाहते हैं लेकिन सरकार इन कानूनों को लागू करने पर तुली हुई है। देश के हर किसान को एमएसपी फसल का मिले, यही संयुक्त किसान मोर्चा चाहता है। आज कई राज्यों के किसानों को फसलों का एमएसपी नहीं मिल रहा है। इसलिए एमएसपी पर कानून बनाने की मांग भी की जा रही है। खेड़ा खाप के प्रधान सतबीर पहलवान ने कहा कि किसान आंदोलन से हर वर्ग जुड़ रहा है। जो किसान संयुक्त मोर्चा ने निर्णय लिए हैं, उनके अनुसार आने वाले दिनों में आंदोलन के कार्यक्रम होंगे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021