जींद: इस समय कपास की चुगाई के साथ-साथ धान की फसल का सीजन है। फसल का सीजन होने के बाद भी मतदाता सुबह से ही बूथों पर अपने मत का प्रयोग करने के लिए लाइनों में लगने लगे थे। डूमरखा कलां, छातर, करसिधु, डूमरखां खुर्द, उचाना मंडी, बुडायन, उचाना खुर्द सहित विभिन्न गांवों में मतदाताओं की लंबी लाइन नजर आई। महिला संतोष, बाला, रजनी ने कहा कि पांच साल में मत डालने का समय आता है। ऐसे में वो पहले मत डालेगी, उसके बाद खेत में काम पर जाएगी। पहली बार मतदान करने वाले मतदाता मतदान के बाद सेल्फी लेते नजर आए। यहां लाइनों में लगने से लेकर मतदान करने के बाद सेल्फी अपने मोबाइलों से लेकर मतदान की अपील अपने फेसबुक अकाउंट से मतदाता करते नजर आए।

-------------

मतदाता की छवि देख डाला वोट

पहली बार वोट डालने वाले अमित, मोनू, राहुल ने कहा कि पहली बार वो अपना प्रतिनिधि चुनने के लिए मतदान कर रहे हैं। मतदाता की छवि, उसकी सोच को देखकर मतदान किया है। उचाना कलां गांव में 97 साल के स्वर्णदत्त ने अपने मत का प्रयोग किया तो छातर गांव में 78 साल की जगनी बुखार होने के बाद भी अपने पोतों के साथ मतदान करने पहुंची। उन्होंने कहा कि मतदान का प्रयोग जरूर करना चाहिए। हम अपने मत से अपना प्रतिनिधि चुनते है। जब से उनके मत बने हैं, तब से मतदान कर रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप