जागरण संवाददाता, जींद : वाहन चलाते समय थोड़ी सी असावधानी जीवन पर भारी पड़ सकती है। ठंड के दौरान देर रात व सुबह इलाका कोहरे की चपेट में होता है। ऐसे में हादसों से बचने के लिए वाहनों को फॉग लैंप, बीम लाइट व रिफ्लेक्टर से लैस करना बेहद जरूरी है, जबकि वाहनों में इनकी कमी है। इसके अलावा वाहनों में गलत तरीके से रखे गए सरियों की वजह से वाहन चालक अपनी जान गंवा बैठते हैं। वाहनों में रिफ्लेक्टर अनिवार्य रूप से लागू भी किया गया है, लेकिन इस पर सख्ती नहीं होने की वजह सड़कों पर मौत बनकर घूमने वाले ट्रक व ट्रैक्टर लोगों की जिदगी पर भारी पड़ रहे हैं। यातायात नियमों की परवाह किसी को नहीं है। न तो रिफ्लेक्टर विहिन वाहनों पर किसी तरह का शिकंजा कसा जा रहा है और न ही ट्रकों व ट्रैक्टर पर गलत ढंग से सरिया लादकर फर्राटे भर रहे वाहनों का। वाहनों में रिफ्लेक्टर की अनिवार्यता के बाद भी इसका सख्ती से पालन नहीं कराने की वजह से रात में हाईवे पर सड़कों पर हादसे बढ़ रहे हैं।

कोहरे के दौरान यह रखे सावधानी

दूरी का रखें ध्यान

धुंध में हादसों से बचने के लिए सामने वाली गाड़ी से एक तय दूरी बनाकर चलना चाहिए। कोहरे में सड़कें गीली होती हैं। इसलिए हो सकता है कि जब तक ब्रेक लगे तब तक वाहन सामने वाली गाड़ी से टकरा जाए। ऐसे में भारी वाहनों से एक निश्चित दूरी बनाकर चलना ही बेहतर है।

गलत ओवरटेकिग से बचें

अधिकतर सड़क दुर्घटनाएं गलत तरीके से ओवरटेकिग करने की वजह से भी होती हैं। हमेशा दाएं से ही ओवरटेक करें। साथ ही इस दौरान इसका भी ध्यान रखें की सामने से कोई वाहन तो नहीं आ रहा। थोड़ी से जल्दबाजी ही जीवन पर भारी पड़ सकती है।

वाहनों में फॉग लाइट जरूर लगवाएं

कोहरे में सफर करने के लिए वाहनों में फॉग लाइट का होना जरूरी है। फॉग लाइट धुंध काटने में मददगार होगी। यह कीमतों पर भी बाजार में उपलब्ध है।

इंडीकेटर का करें प्रयोग

रात के वक्त वाहन चलाने पर इडीकेटर का इस्तेमाल जरूर करें। यह कोहरे और धुंध में भी मददगार बनता है। अधिक कोहरा होने पर इंडिकेटर जला देना चाहिए। इससे पीछे चल रहे वाहन को इस बात की जानकारी हो जाएगी कि सड़क पर उनके अलावा और भी वाहन दौड़ रहा है। अचानक गाड़ी मोड़ने से पहले इंडिकेटर नहीं देने पर दुर्घटना की संभावना कई गुना बढ़ जाती है।

रेडियम स्टीकर्स लगाएं

रेडियम स्टीकर्स भी धुंध में फायदेमंद साबित होते हैं। सभी वाहनों के पीछे रेडियम स्टीकर लगा होना अनिवार्य है। लेकिन, इसके बाद भी अधिकतर वाहनों में रेडियम स्टीकर नहीं लगाए गए हैं।

इनका भी रखना होगा ध्यान

-मालवाहक वाहनों पर क्षमता से अधिक सामान न रखें

-सकरी पुलिया के आस-पास ओवरटेक बिल्कुल न करें

-लिक मार्ग से हाई-वे पर जाते समय सड़क के दोनों ओर जरूर देखें

-नशा करके वाहन बिल्कुल न चलाएं

-सड़क पर स्टंट करने से बचें

-वाहन चलाते समय नींद आने पर कहीं रूकें। जरूरत पड़ने पर आराम करें। इसके बाद ही गंतव्य की ओर रवाना हों।

-वाहनों की छत पर व लटक कर सफर करने से बचें।

-अपने वाहनों का नियमित रूप से कराएं जांच।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप