जागरण संवाददाता, जींद : जिला बाल कल्याण परिषद द्वारा बच्चों को टेलीफोन पर परामर्श सेवाएं उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से बच्चों की बात टेलीफोन के साथ कार्यक्रम बनाया गया है। बुधवार को डीसी अमित खत्री ने अपने कार्यालय से एक बच्चे की टेलीफोन पर आई कॉल रिसीव कर इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसी के साथ यह अनोखा कार्यक्रम शुरू करने वाला जींद प्रदेश का पहला जिला बन गया है। इस अवसर पर जिला बाल कल्याण अधिकारी अनिल मलिक तथा कई विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे। डीसी ने कहा कि इस कार्यक्रम के शुरू होने से अब बच्चे टेलीफोन पर अपनी समस्याएं रख सकते है। बच्चों की समस्याओं के समाधान के लिए बच्चों से आने वाली फोन कॉल को काउंसलर रिसीव करेंगे और फोन पर ही बच्चे की काउंस¨लग कर बच्चे की समस्या का समाधान करने का प्रयास किया जाएगा। कार्यक्रम के शुरू करने के पीछे जिला बाल कल्याण परिषद का मुख्य उद्देश्य बच्चों में तनाव को कम करना तथा बाल अपराध पर अंकुश लगाना है।

Posted By: Jagran