जागरण संवाददाता, जींद : एकता व भाईचारे का संदेश देने वाले तथा ऊंच-नीच का भेदभाव मिटाने वाले प्रथम पातशाही गुरु नानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव पर सोमवार को विशाल नगर कीर्तन निकाला गया। इसमें विभिन्न समुदायों के लोगों ने श्रीगुरु ग्रंथ साहिब की पालकी साहिब के समक्ष माथा टेक कर अपनी अरदास मांगी।

गुरुघर के प्रवक्ता बलविद्र सिंह के अनुसार नगर कीर्तन में श्रीगुरु ग्रंथ साहिब को फूलों से सजी पालकी में शानदार ढंग से सुशोभित किया गया था। पालकी साहिब की अगुवाई पंजाब से मंगवाए गए मिलिट्री बैंड के साथ-साथ गुरु के पंज प्यारों ने की। पीछे-पीछे समूह संगत सतनाम वाहेगुरु एवं गुरबाणी का जाप करती हुई नगर कीर्तन के साथ चल रही थी, जबकि सुखमणी साहिब की सेवादार पांच प्यारों के साथ आगे-आगे सुखमणी साहिब का सिमरण करते हुए झाडू की सेवा लगा रही थी। नगर कीर्तन गुरुद्वारा तेग बहादुर साहिब से चल कर पुरानी अनाज मंडी, टाउन हाल, फव्वारा चौक, पालिका बाजार, मेन बाजार, पंजाबी बाजार से होता सिंह सभा गुरुद्वारा पहुंचा। इसके बाद नगर कीर्तन रुपया चौक, बत्तख चौक, सफीदों गेट, रानी तालाब से होते हुए गुरुद्वारा तेग बहादुर में संपन्न हुआ। यहां गुरुद्वारा मैनेजर बंता सिंह व गुरुद्वारा गुरुतेग बहादुर साहिब के मुखिया ग्रंथी ज्ञानी गुरविद्र सिंह, जत्थेदार गुरजिद्र सिंह द्वारा नगर कीर्तन का स्वागत किया गया। कन्हैया सेवा दल, भाई सोमाशाह सेवा दल, सभी सुखमणी सेवा सोसायटियां तथा गुरु तेग बहादुर सेवा दल की सेवादार शुरू से लेकर आखिर तक नगर कीर्तन की सेवा में लगे रहे। साथ चल रही टीम ने गतके के साथ-साथ तलवारबाजी का शानदार प्रदर्शन किया।

स्कूलों बच्चों ने गिद्दा पेश किया

विभिन्न स्कूलों के बच्चे रंग-बिरंगी पोशाकों में आकर्षक मुद्राएं पेश कर रहे थे। स्कूली बच्चों ने गिद्दा, डंबल व पीटी शो किया। इस मौके पर सिंह सभा गुरुद्वारा भारत सिनेमा रोड के प्रधान सरदार किरपाल सिंह, कमलजीत ग्रेवाल, अशोक छिब्बर, जोगेंद्र पाहवा, गुरविद्र, टहल सिंह, सुरेंद्र सिंह टक्कर, गुरविद्र सिंह, महेंद्र सिंह, परमजीत सेठी, कुलदीप विर्क, लाडी चीमा, रामसिंह दुग्गल, हरबंस सिंह, सरदार सिंह, प्रेम सिंह, गुरुबचन सिंह, जसबीर सिंह मौजूद रहे। सनातन धर्म व स्वामी गणेशानंद कॉलेज में मनाया प्रकाश पर्व

संवाद सूत्र, उचाना: रेलवे रोड पर सनातन धर्म कन्या महाविद्यालय उचाना मंडी में गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व की पूर्व संध्या पर छात्राओं को गुरु नानक देव जी के जीवन व उनके द्वारा दी गई शिक्षाओं के बारे में बताया गया। इतिहास प्राध्यापिका किरण खुराना ने छात्राओं को बताया कि करतारपुर में जहां गुरु नानक देव जी ज्योति जोत समा गए थे, वह गुरुद्वारा सभी संगत के दर्शनों के लिए खोल दिया गया है। प्राचार्य डॉ. आरके जैन ने सबको इस पर्व की बधाई दी। इस अवसर पर वीना बम्बोरिया, दर्शना, अनिता, सुमन, सीमा, मंजू खुराना मौजूद रही।

वहीं, उचाना कलां गांव में स्वामी गणेशानंद सनातन धर्म शिक्षण महाविद्यालय में एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन गुरु नानक देव जी प्रकाश पर्व पर किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत बीएड के सहायक प्रोफेसर सुरेंद्र कुमार ने की। डीएड, बीएड के समस्त विद्यार्थियों ने बढ़चढ़ कर इसमें हिस्सा लिया। बीएड प्राचार्य आरके जैन, डीएड प्राचार्य धर्मबीर श्योकंद, डॉ. उमेश कुमार, परमजीत, डॉ. मनोहर, अमित, सुनीता, पूनम, डॉ. राजकुमार मौजूद रहे। डीपीएस में धूमधाम से मनाया गुरु पर्व

जागरण संवाददाता, जींद : डीपीएस जींद में सोमवार को धूमधाम के साथ गुरु पर्व मनाया गया। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में मंच सचालन पंजाबी भाषा में छात्रा खुशप्रित ने किया और सिक्ख धर्म को मानने वाले बच्चे पंज-प्यारे का वेश धारण कर आए और उन्होंने अरदास पढ़ी। छात्र जश्नदीप, गुरपवान, हर्षदीप, तनवीर ने खालसा पंथ व गुरु नानक देव के जीवन पर प्रकाश डालकर सिक्ख गुरुओं के समर्पण व त्याग की कहानी बताई। छात्रा डोरिस ने गुरु ग्रंथ साहिब का पाठ किया। अध्यापिका डॉ. मुकेश ने सभी बच्चों की प्रस्तुतियों की प्रशंसा की। वाइस चेयरमैन प्रो. एसपी बंसल ने सभी बच्चों व उनके अभिभावकों को गुरु पर्व की शुभकामनाएं दी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप