जागरण संवाददाता, जींद : लोकतंत्र के महायज्ञ में महिलाओं ने बढ़चढ़ कर आहुति डाली। घूंघट की ओट किए आधी आबादी वोट करने मतदान स्थलों तक पहुंचीं। इसकी गवाही मतदान केंद्रों में महिलाओं की लाइन खुद दे रही थीं। जो महिलाएं घर से नहीं निकलीं उन्हें राजनीतिक दलों के पदाधिकारी के साथ परिवार के लोग मतदान स्थल तक ले गए और मतदान कराया। प्रत्याशियों का भविष्य क्या होगा, इस पर महिलाओं ने भी अपनी मुहर लगा दी। कहीं मार्डन नारी तो कहीं घूंघट किए महिलाएं मतदान करने पहुंचीं। बुजुर्गो के सम्मान या पुरानी प्रथा को आगे बढ़ाते हुए वह अपना मुंह ढ़ककर विधायक का चुनाव करने के लिए पहुंचीं।

गांव कंडेला, शाहपुर, मोहनगढ़ छापड़ा, समेत तमाम इलाकों में महिलाएं अपने बड़ों के साथ पर्दा करके मतदान स्थल तक पहुंचीं। ग्रामीण महिलाएं मतदान डालने के लिए टोलियों के साथ मंगल गीत गाते हुए पहुंची। महिला सरोज, शांति देवी पर्दा करके मतदान करने पहुंचीं। बात करने पर उन्होंने बताया कि हम बड़ो के सम्मान में पर्दा करते हैं। यह हमारी परंपरा है। मतदान करना भी हमारी परंपरा है। इसको पूरा करने के लिए आए हैं। हम अपनी वोट के जरिये अपने विधायक को चुनेंगे। विकास कराने वाले प्रत्याशी को विधानसभा भेजेंगे। वहीं, जिन महिलाओं को घर से निकलने में देर हो गई, उन्हें पार्टी के पदाधिकारी मतदान स्थल तक ले गए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप