जागरण संवाददाता, जींद : विधानसभा सब्जेक्ट कमेटी की बुधवार को चंडीगढ़ में बैठक होगी। जिसमें जींद में धंसी सड़कों और पीडब्ल्यूडी बीएंडआर व पब्लिक हेल्थ की विभिन्न विकास परियोजनाओं को लेकर फैसला लिया जाएगा। बैठक में पीडब्ल्यूडी बीएंडआर और पब्लिक हेल्थ के अतिरिक्त मुख्य सचिव, इंजीनियर इन चीफ और चीफ इंजीनियर को बुलाया गया है। गौरतलब है कि चार अगस्त को विधानसभा सब्जेक्ट कमेटी ने जींद का दौरा किया था। जिसमें पीडब्ल्यूडी बीएंडआर और पब्लिक हेल्थ की विकास परियोजनाओं, सीवर लाइन के साथ-साथ धंसे हुए रोहतक रोड व मिनी बाईपास का भी निरीक्षण किया गया था। निरीक्षण के दौरान काफी खामियां मिली थी। वहीं मेडिकल कालेज का भी टीम ने निरीक्षण किया था, जिसमें निर्माण सामग्री की क्वालिटी पर सवाल उठाए थे। सब्जेक्ट कमेटी में छह विधायकों के साथ संबंधित विभागों के अधिकारी भी आए थे। सड़कों के धंसने के मामले में पीडब्ल्यूडी बीएंडआर और पब्लिक हेल्थ के साथ-साथ नगर परिषद अधिकारियों पर भी गाज गिर सकती है। बुधवार को सब्जेक्ट कमेटी की बैठक में नगर परिषद अधिकारियों को नहीं बुलाया गया है। सब्जेक्ट कमेटी में शामिल भाजपा विधायक डा. कृष्ण मिढ़ा ने बताया कि बुधवार को बैठक होगी और संबंधित विभागों के अधिकारियों को भी बुलाया गया है।

पीडब्ल्यूडी बीएंडआर के एसई और एक्सईएन को बुलाया

पीडब्ल्यूडी बीएंडआर अधिकारियों ने बुधवार को ही एसई और एक्सईएन को चंडीगढ़ बुलाया है। विधानसभा सब्जेक्ट कमेटी की बैठक से पहले सड़क धंसने के मामले में उच्च अधिकारी एसई व एक्सईएन से बात करेंगे और विस्तृत जानकारी ली जाएगी। एक्सईएन सुल्तान वशिष्ठ ने बताया कि मुख्यालय की तरफ से बुलाया गया है।

एडीसी की रिपोर्ट का भी इंतजार

सड़क धंसने के मामले में डीसी नरेश नरवाल ने एडीसी साहिल गुप्ता की अध्यक्षता में जांच कमेटी गठित की हुई है। पिछले सप्ताह कमेटी धंसी सड़कों का निरीक्षण भी किया था। विधानसभा सब्जेक्ट कमेटी की कार्रवाई के साथ-साथ एडीसी की जांच रिपोर्ट का भी इंतजार है।

Edited By: Jagran