जागरण संवाददाता, जींद : मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी कार्यालय परिसर में अंत्योदय मेला लगाया गया। तीन दिवसीय इस मेले का शुभारंभ एडीसी साहिल गुप्ता ने किया। एडीसी ने बताया कि मेले का मुख्य उद्देश्य गरीब एवं पात्र परिवारों, जिनकी वार्षिक आय एक लाख रुपये से कम है। उनको सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदान कर मुख्य धारा से जोड़ना है। इन मेलों से स्वरोजगार स्थापित करने में काफी मदद मिलेगी और वे सरकारी योजनाओं के तहत अपनी इच्छानुसार कारोबार स्थापित करने के लिए ऋण प्राप्त कर सकेंगे। गरीब व्यक्ति के उत्थान और जीवन स्तर में सुधार की दिशा में यह मेले कारगर सिद्ध होंगे। 17 दिसंबर तक निर्धारित तारीखों में इन मेलों का जिले के सभी खंडों में आयोजन किया जाएगा। उन्होंने पात्र परिवारों का आह्वान किया कि वे इन मेलों का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाने के लिए आगे आएं। सरकार द्वारा इस योजना के तहत लाभपात्रों की पहचान की गई है। इन मेलों में केवल वही लाभपात्र शामिल हो रहे हैं, जिनके पास मोबाइल पर एसएमएस किया गया है। लाभपात्रों को मेलों में आने के बारे में सूचित किया जा रहा है तथा व्यक्तिगत रूप से संपर्क करके उन्हें इन मेलों में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। लाभपात्र अपने साथ अपना योग्यता संबंधित प्रमाण-पत्र, परिवार पहचान पत्र, आधार कार्ड, पैन नंबर, बैंक पास बुक के अलावा जरूरी कागजात अवश्य लेकर आएं। मेले में आने वाले लाभपात्रों के लिए प्रशासन द्वारा स्पेशल बस सेवा मुहैया करवाई गई है, जो मेले में निशुल्क लेकर आ रही है। एसडीएम डा. वेदप्रकाश ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि मेले में आने वाले लाभार्थियों को किसी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए। उनकी जरूरत व योग्यता अनुसार योजनाओं की जानकारी देकर विभिन्न विभागों की योजना व बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

इस अवसर पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. किरण सिंह, रोडवेज महाप्रबंधक गुलाब सिंह, मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी साकेत शुभ मौजूद रहे।

विभागों ने लगाए स्टाल

लोगो को जानकारी और सहायता उपलब्ध करवाने के लिए विभिन्न विभागों तथा बैंकों ने स्टाल लगाए हुए हैं। इनमें बैंक आफ इंडिया, पीएनबी, बैंक आफ बड़ौदा, महिला एवं बाल विकास विभाग, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मत्स्य पालन विभाग, जिला कल्याण अधिकारी, बागवानी विभाग शामिल हैं। योजनाओं के बारे में मार्गदर्शन करने के लिए हेल्प डेस्क भी स्थापित किया गया है। लोगों की प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए फीडबैक डेस्क भी लगाया गया है। मेले में आई झांझ कलां की मूर्ति देवी, जींद निवासी अशोक कुमार, नीलम ने सरकार की इस पहल को सराहा।

Edited By: Jagran