जेएनएन, नरवाना (जींद)। जिस प्रेमी ने प्रेमिका के साथ जीने मरने की कसमें खाई थी वही उसे धोखा दे गया। प्रेमी ने युवती से 15 दिन पहले ही प्रेम विवाह किया था, लेकिन अब अचानक उसने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर उससे एेसा धोखा कर दिया जिससे वह बुरी तरह टूट गई। प्रेमी से पति बने युवक ने उसे नहर में धक्का दे दिया। ये उसका भाग्य रहा कि वह बच गई। उसे अग्रोडा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती किया गया है। पुलिस ने हत्या के प्रयास का केस दर्ज कर युवती के पति सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

नरवाना सदर थाना प्रभारी महेंद्र सिंह के मुताबिक पीड़ित युवती ने बताया कि पिछले दिनों गांव अंबरसर निवासी सुल्तान उसके संपर्क में आया। उसने उसे अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। इसी बीच सुल्तान उसे अपने साथ ले गया और 22 अक्टूबर को गाजियाबाद में प्रेम विवाह कर लिया। इसके बाद सुल्तान और वह गांव झाड़सा गुरुग्राम में रहने लगे।

सुल्तान का भाई प्रवेश रविवार को उनसे मिलने गुरुग्राम आया और घर चलने की बात कही। तीनों बाइक से गांव अंबरसर के लिए निकल पड़े। जब वह गांव बेलरखां के निकट पहुंचे तो आरोपितों ने बाइक रोक ली। वहां पर उसका ससुर ईश्वर सिंह पहले से खड़ा था। बाइक से उतरते ही तीनों ने उसे भाखड़ा नहर में फेंक दिया।

जब युवती ने बाहर निकलने की कोशिश की तो आरोपितों ने उसे ईंटें मारनी शुरू कर दी। बचने के लिए पीड़िता ने पानी में डुबकी लगा दी। अंधेरे में तीनों उसे मरा समझकर वहां से भाग गए। इसके बाद युवती नहर से निकली और पास के एक होटल में जाकर वहां से पुलिस को सूचना दी।

पुलिस ने महिला को नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया, जहां से उसे अग्रोहा के मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया। पुलिस ने उसके बयान पर केस दर्ज कर उसके पति सुल्तान, देवर प्रवेश व ससुर ईश्वर को गिरफ्तार कर लिया।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप