फोटो : 26 से 28

- पुलिस जवानों की शहादत को कभी भुलाया नहीं जा सकता:एसपी हिमांशु गर्ग

जागरण संवाददाता, झज्जर : बुधवार को पुलिस लाइन में पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर शहीद पुलिस कर्मियों की याद में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। जिसमें पुलिस कप्तान हिमांशु गर्ग ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करते हुए पुलिस जवानों को श्रद्धांजलि दी। सभा की अध्यक्षता उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय झज्जर रणबीर सिंह द्वारा की गई। मंच का संचालन निरीक्षक सुखबीर सिंह ने किया।

पुलिस कप्तान ने अपनी बात रखते हुए कहा कि पुलिस के जवान जिन्होंने अपने कर्तव्य को निभाते हुए प्राणों की आहुति दी है, उनकी याद में पुलिस स्मृति दिवस मनाया जाता है। पुलिसकर्मी अपनी जान को जोखिम में डालकर आमजन की रक्षा करने का काम करते हैं। पुलिस के जवानों की शहादत को कभी भुलाया नहीं जा सकता। डीएसपी रणवीर सिंह ने बताया कि आज के दिन वर्ष 1959 में लद्दाख में स्थित हाटस्प्रिंग नामक स्थान पर तैनात भारतीय पुलिस कर्मियों की एक टुकड़ी पर चीनी सैनिकों ने अचानक हमला कर दिया था। हमले से अपनी पुलिस पोस्ट की सुरक्षा करते हुए वीर पुलिस जवानों ने अपने प्राणों की आहुति देकर शौर्य की परंपरा व गाथा को कायम रखा। इसीलिए उन महान शहीदों की स्मृति में और उनका अनुसरण करने वाले सभी पुलिस बलों के शहीदों के सम्मान में प्रत्येक वर्ष 21 अक्टूबर को पुलिस स्मृति दिवस का आयोजन किया जाता है।

पुलिस गार्द द्वारा शोक सलामी देते हुए दो मिनट का मौन भी रखा गया। इस अवसर पर एएसपी विक्रांत भूषण, डीएसपी नरेश कुमार, डीएसपी राहुल देव, डीएसपी बहादुरगढ़ पवन कुमार, डीएसपी बादली अशोक कुमार, लाईन अफसर सुरेश कुमार, जिला पुलिस में तैनात पुलिस अधिकारी, सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी व अन्य मौजिज लोगों ने पुष्प अर्पित कर शहीद हुए पुलिस जवानों को श्रद्धांजलि दी।

Edited By: Jagran