जागरण संवाददाता, झज्जर : कोरोना काल में बंद हुआ जेजेपी का हरी चुनरी चौपाल कार्यक्रम दोबारा से शुरू हो गया है। दूसरे चरण में जेजेपी ने शुक्रवार को झज्जर जिले के गांव सुर्खपुर में हरी चुनरी चौपाल कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में बाढड़ा की विधायक नैना चौटाला विशेष रूप से मौजूद रही।

महिलाओं की भीड़ को देखकर चौटाला ने कहा कि गर्मी के मौसम में इतनी भारी भीड़ में महिलाओं कार्यक्रम में पहुंचना एक तरह से यह संदेश दे रहा है कि महिलाएं पार्टी की नीतियों से खुश है। उन्होंने कहा कि हरियाणा विस में जेजेपी को दस सीट दिलवाने में महिलाओं की अहम भूमिका रही है और वह प्रदेश की महिलाओं का सदा आभारी रहेंगी। चौटाला ने कहा कि महिलाओं को बराबरी का हक दिलवाने के लिए ही उन्होंने जेजेपी के सत्ता में आने से पहले यह हरी चुनरी चौपाल का कार्यक्रम शुरू किया था। महिलाओं को राजनीतिक रूप से उनका हक दिलवाने का उन्होंने वायदा किया था। जिसमें वह काफी हद तक सफल भी हुई है। इस मौके पर उन्होंने हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यन्त चौटाला की कार्यशैली को लेकर जमकर कसीदे पढ़ते हुए कहा कि दुष्यन्त ने महिलाओं को पंचायत में उनका हक दिलवाने का वायदा किया था। अब यह कानून दुष्यन्त ने बनवाकर दिखाया है। महिलाओं को अब राजनीति में पचास प्रतिशत का आरक्षण मिला हुआ है। अब हरियाणा की महिलाएं और बेटियां भी पंच और सरपंच बनकर मंच पर डीसी की कुर्सी के बराबर बैठ सकती है। इससे पहले महिलाओं को मंच पर उचित स्थान नहीं मिलता था। उन्होंने कहा कि चाहे पिछड़ा वर्ग की बात हो या फिर राशन डिपो में महिलाओं के अधिकार की बात। सभी में उचित स्थान दिलवाया जा रहा है। इस मौके पर प्रदेशाध्यक्ष शीला भयान, संगठन सचिव राजेन्द्र लितानी, रमेश गोदारा, जिला प्रधान राकेश जाखड़,महिला जिला प्रधान शीला गोदारा, धर्मेन्द्र गुलिया, प्रेस प्रवक्ता प्रीतम कुकड़ोला, सीलम जून, कांता खेड़ी होशिदारपुर, संजय दलाल, संजय कबलाना, मास्टर राजीव, अजय गुलिया, पंकज सेहलंगा, वरूण ग्रेवाल, मनोज पांचाल आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran