जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ : सासद दीपेंद्र सिंह हुड्डा बृहस्पतिवार को बहादुरगढ़ में कहा कि मेरे संसदीय क्षेत्र के लोगों और मेरे बीच जो परस्पर अटूट विश्वास का रिश्ता है वो प्रधानमंत्री या फिर अमित शाह के कहने से नहीं टूटने वाला है। चाहे वो इसको तोड़ने की कितनी भी कोशिश कर लें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सापला रैली को लेकर काग्रेस सासद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि प्रदेश की जनता को पीएम मोदी से काफी उम्मीदें थी, लेकिन प्रधानमंत्री ने हर वर्ग को निराश कर दिया। उन्होंने कहा कि किसान, युवा से लेकर मजदूर तक आस लगाए बैठा था कि प्रधानमंत्री कुछ न कुछ उन्हें देकर जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बेरोजगारी और व्यापक मंदी की मार झेल रहे समाज के हर वर्ग के लोगों को केवल निराशा और मायूसी ही हाथ लगी।

सासद ने कहा कि रेल कोच फैक्टरी को लेकर भाजपा सरकार ने इस पर भी प्रदेश की जनता को बरगलाने का काम किया है। जो कारखाना यहा सोनीपत में लगाया जा रहा है, वह रेल कोच फैक्टरी नहीं है, बल्कि कोच रिपेयर करने का वर्कशॉप कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि असल में तो हुड्डा सरकार के कार्यकाल में 2013-14 के रेल बजट में उन्होंने खुद प्रदेश के विकास के लिए 500 एकड़ में गोहाना के लाठ-जौली में 3500 करोड़ रुपये की लागत की रेल कोच फैक्टरी मंजूर कराई थी। उन्होंने कहा कि बतौर सासद उन्होंने प्रयास किया था कि हरियाणा के सोनीपत को यह रेल का कारखाना मिले।

सासद दीपेंद्र हुड्डा बहादुरगढ़ में कई कार्यक्रमों में शिरकत करने के दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि केंद्र सरकार के सरकारी कार्यक्रम में जमकर दीनबंधु छोटूराम के नाम पर सरकारी तंत्र का दुरुपयोग किया गया। छोटूराम जी को सच्ची श्रद्धाजलि उस समय होती जब उनके नाम से बड़ी योजना की घोषणा करते।

Posted By: Jagran