जागरण संवाददाता, झज्जर : क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ढाकला गांव निवासी एक किसान को ऑनलाइन शॉपिग काफी महंगा पड़ गया। एक वेबसाइट से एक हजार रुपये कीमत की बीपी टेस्ट करने की मशीन को मंगाने के चक्कर में पीड़ित के साथ एक लाख रुपये से अधिक की राशि की ठगी हो गई। छह अलग-अलग ट्रांसजेक्शन में एक लाख 2 हजार 114 रुपये निकाले गए हैं। हालांकि, किसान को मशीन अभी तक नहीं मिल पाई है। इधर, बनी इस परेशानी को अब किसान की पूरी उम्मीद पुलिस पर आन टिकी है। बैंक एवं पुलिस में शिकायत देते हुए मदद किए जाने की गुहार लगाई है। ताकि जो घटनाक्रम उसके साथ हुआ है। भविष्य में किसी अन्य के साथ नहीं हो तथा हुए नुकसान की भरपाई भी हो सके। बॉक्स : ढाकला गांव निवासी पीड़ित किसान नसीब सिंह के चाचा प्रताप सिंह के मुताबिक कुछ दिन पहले नसीब ने एक वेबसाइट से बीपी टेस्ट करने की मशीन मंगाई थी। मशीन के लिए एक हजार रूपये का भुगतान पे-टीएम से कर दिया था। मशीन डिलीवर करने के लिए तय किए गए समय के बाद भी मशीन के नहीं पहुंचने की स्थिति में उसने इंटरनेट से हेल्पलाइन के नंबर लिए। संपर्क करने के बाद ऐसी स्थिति बनी कि आरोपितों ने नसीब का खाता और पूरी डिटेल हैक कर ली। आरोपितों द्वारा उठाए गए इस कदम के बाद 9 जनवरी को उन्होंने अलग अलग समय और अलग अलग खातों में 39428, 9280, 23582, 19835, 4999 सहित अन्य राशि निकाल ली। कुल एक लाख 2 हजार 114 रूपये खाते से निकाले गए है। प्रतिक्रिया : अक्सर इस विषय को लेकर आगाह किया जाता है कि किसी भी अंजान व्यक्ति द्वारा पूछे जाने वाले ओटीपी एवं बैंक से जुड़ी डिटेल साझा नहीं करनी चाहिए। भूलवश होने वाली ऐसी गलतियां काफी नुकसानदायक साबित होती है। इसीलिए सभी को ध्यान देना चाहिए।

चमन लाल, प्रवक्ता पुलिस

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस