फोटो : 1

- शहर की सड़कों पर रातभर दौड़ते रहे भारी वाहन

- चंडीगढ़ जाने वाली ट्रेन के लिए पौने घंटे पहले ही काटी यात्रियों की टिकट

- दो चौक पर पुलिस मिली तैनात जागरण संवाददाता, झज्जर :

जिला अस्पताल के आपातकालीन विभाग में रात करीब सवा 11 बजे उपचाराधीन एक घायल शराब के नशे में होने के कारण चिल्ला रहा था। जैसे ही अस्पताल में दाखिल हुए घायल की आवाज सुनाई दी। स्टाफ व परिजन घायल को संभालने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन संभालना मुश्किल था। क्योंकि, स्थिति अच्छी नहीं थी। यह हालात दैनिक जागरण की टीम को मंगलवार रात को 11 बजे से साढ़े 12 बजे तक शहर का दौरा करने के दौरान दिखाई दिए। हालांकि, दिन के समय में भी शहर में सामान्य सी गतिविधियां ही देखने को मिलती है। वैसे ही हालात रात को दिखाई दिए। बस यह कवायद इसीलिए है, जिससे आपको पता चल सके कि रात के समय में आपके शहर में क्या हो रहा है। ----

रात 10:50 बजे : राव तुलाराम चौक पर लाइट नहीं होने के कारण अंधेरा छाया हुआ था। भारी वाहन अपनी तेज रफ्तार में दौड़ रहे थे। वाहनों की रोशनी से ही सड़क का अनुमान लग रहा था। वहीं छोटे वाहन चालक उनसे बचते हुए निकलते नजर आए। भारी वाहनों पर हटने वाला अंकुश बेशक की गति में दौड़ने का मौका भी उन्हें देता है। रात 10:58 बजे : बेडकर चौक पर सन्नाटे के बीच एकाध वाहन गुजर रहे थे। रात होते ही दुकानें बंद हो गई थी। हालांकि यहां पर राइडर भी तैनात मिली। दो पुलिस कर्मी सुरक्षा के मद्देनजर वहां पर ड्यूटी कर रहे थे। टीम कुछ समय यहां रुकने के बाद निकल पड़ी। रात 11:05 बजे : बस स्टैंड के गेट पर ताला लगा हुआ था। मुख्य सड़क से वाहन अपनी गति में दौड़ रहे थे। लेकिन वाहन चालकों के लिए बेसहारा पशु भी स्पीड ब्रेकर का काम करते नजर आए। बस स्टैंड के पास 5-7 पशुओं का झुंड सड़क पर घूम रहा था। रात 11:10 बजे : धौड़ चौक पर खुले हुए ढाबे पर लोग खाना खाने के लिए आए हुए थे। वहीं दुर्गा शक्ति की टीम भी वहां मौजूद थी। रात 11:17 बजे : जिला अस्पताल में एक घायल शराब के नशे में चिल्ला रहा था। वह शराब के नशे में घर पर गिर गया था, इसलिए उसे चोट लगी। अस्पताल में पहुंचने के बाद चिकित्सकों ने उसका उपचार कर उसे भर्ती कर लिया। रात 11:45 मिनट : यात्री चंडीगढ़ जाने वाली ट्रेन का इंतजार कर रहे थे। करीब तीन घंटे पहले पहुंचे यात्रियों को भी साढ़े 11 बजे के बाद ही टिकट मिली। इसके बाद दैनिक जागरण टीम शहर से गुजरते हुए बीकानेर चौक व राव तुलाराम चौक तक पहुंची। हालांकि, रेलवे स्टेशन तक जाने का विषय हो या शहर के अंदर स्थान। रोशनी की कमी के कारण मजबूरी वश इक्का-दुक्का निकलने वालों को भी परेशान होना पड़ता था। चूंकि, मंगलवार को शहर में स्थित मैरिज पैलेस में शादियां थी। इसलिए भी गतिविधियां ज्यादा देखने को मिली।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस