जागरण संवाददाता,झज्जर : क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव सिलानी में बुधवार शाम खेत में गए एक किसान को करंट लग गया। जिससे वह बुरी तरह से झुलस गया। जब परिवार वालों को इसका पता लगा तो वे उपचार के लिए शहर के निजी अस्पताल में ले आए। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मृतक के परिवार वालों के बयान पर बिजली निगम व गांव के तीन लोगों के खिलाफ लापरवाही बरतने का मामला दर्ज किया है। इधर, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद स्वजनों को सौंप दिया।

- गांव सिलानी निवासी संदीप ने बताया कि उसका भाई करीब 45 वर्षीय उदयपाल खेतीबाड़ी करता था। जिसने खेत में ही अपना घर बना रखा है। आरोप लगाते हुए कहा कि गांव के ही लोग उनके खेत में से अवैध रूप से बिजली की तार लेकर गए हुए हैं। तार खस्ताहाल है और करंट लगने के भय से उक्त लोगों को कई दफा तार हटाने के लिए भी कहा गया। लेकिन उन्होंने एक बार भी इस तरफ ध्यान नहीं दिया और बिजली की तार तक नहीं हटाई। बुधवार शाम को उदयपाल घर के समीप खेत में गया हुआ था। इसी दौरान वह बिजली की तार के संपर्क में आ गया। बिजली करंट लगने के कारण वह बुरी तरह से झुलस गया। परिवार वालों ने इसका पता चलते ही उदयपाल को संभाला और शहर के निजी अस्पताल में ले आए। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित करके इसकी सूचना पुलिस को दे दी। तीन लोगों को पहले भी लग चुका करंट बॉक्स : - मृतक के चचेरे भाई सोमपाल ने बताया कि सप्ताहभर में तीन लोगों को पहले भी करंट लग चुका है। हालांकि वे बाल-बाल बच गए थे। जबकि, उदयपाल की करंट लगने के कारण मौत हो गई। वह सप्ताहभर पहले खेत में खाद का छिड़काव करने के लिए गया था। उसे भी इसी तार के कारण उसे भी करंट लगा था। वहीं सोमपाल की पत्नी सुमन को भी इसी तार के कारण करंट लग चुका है। वहीं मृतक के भाई संदीप को भी कुछ दिन पहले करंट लगा था। - जांच अधिकारी एएसआइ रामअवतार ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचकर जांच की। मृतक के परिवार वालों के बयान दर्ज किए। जिसके आधार पर बिजली निगम व गांव के तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। कार्रवाई करते हुए शव को पोस्टमार्टम के बाद स्वजनों को सौंप दिया।

Edited By: Jagran